- शीला की जवानी हुई पुरानी, ऑटो में बज रहे कुंडी न खटकाओ राजा

- ग‌र्ल्स कॉलेज के आसपास चालक सबसे अधिक करते है अश्लीलता

BAREILLY:

शहर के ऑटो में शीला की जवानी और मुन्नी बदनाम होनी बंद हो चुकी हैं. ऑटो और टेम्पो चालक अब कुंडी न खटकाओ राजा, जल्दी अंदर आओ राजा जैसे दिलफेंक व अश्लील गाने बजा रहे हैं, जो ऑटो-टेम्पो में बैठी लेडीज व ग‌र्ल्स सवारियों को शर्मसार कर रहा है. यह हालत तब है जबकि मोटर व्हीकल एक्ट के तहत पैसेंजर्स वाहन में सवारियों की अनुमति के बिना गाने ही नहीं बजाए जा सकते हैं, लेकिन ऑटो-टेम्पो चालक न सिर्फ इस नियम की धज्जियां उड़ा रहे, बल्कि अश्लीलता की हदें भी पार कर रहे हैं.

ग‌र्ल्स के साथ बदसलूकी

शहर में चल रहे मैक्सिमम ऑटो में अवैध तरीके से म्यूजिक सिस्टम लगे हुए हैं. जैसे ही ऑटो में लेडीज और ग‌र्ल्स सवारियां बैठती हैं, ड्राइवर गाना बजाना शुरू कर देते हैं. अश्लील, डबल मीनिंग गानों की आड़ में ड्राइवर महिला सवारियों से एक तरह बदसलूकी करते हैं. विरोध करने पर कई बार ड्राइवर मिसबिहेव करने पर उतारू हो जाते हैं. सबसे अधिक मामले ग‌र्ल्स कॉलेज के आसपास देखने को मिलते हैं. कॉलेज व स्कूल गोइंग ग‌र्ल्स को ड्राइवर अपने बगल में बैठाकर अश्लील गाने बजाना शुरू कर देते हैं.

छेड़खानी के कई मामले

ऑटो-टेम्पो में लेडीज और ग‌र्ल्स के साथ छेड़खानी के कई मामले सामने आ चुके हैं. कई मामलों में महिला सवारियों ने किसी तरह से ऑटो से कूद कर अपनी जान व इज्जत बचाई है. फिर भी ड्राइवर्स की अश्लील हरकतों पर लगाम नहीं लगाई जा सकी है. हालांकि, ट्रैफिक पुलिस उनके आई कार्ड और यूनिफॉर्म बनाए जाने की पहल कर रहा है. फिर भी यह व्यवस्था रफ्तार नहीं पकड़ सकी है.

एक्सीडेंट का खतरा

ऑटो व टेम्पो में गाना बजाने से ड्राइवर का ध्यान भटकता है, जिससे एक्सीडेंट होने का भी खतरा रहता है. वहीं कई बार पीछे से आ रहे वाहन पास लेने के लिए हॉर्न देते रहते हैं. लेकिन ऑटो ड्राइवर तेज आवाज म्यूजिक की वजह से सुन नहीं पाते. जिसके कारण एक्सीडेंट के चांसेज कई गुना बढ़ जाते है. जबकि, एक्ट में है कि ड्राइवर तेज आवाज में गाने नहीं बजा सकते. यदि सवारियां मना कर रही हैं तो धीमी आवाज में भी ड्राइवर गाना नहीं बजा सकते हैं.

----------------------

मुझे अक्सर अपने कॉलेज ऑटो से जाना-आना पड़ता है. ऑटो ड्राइवर मनमानी करते हुए इतने अश्लील गाने बजाते हैं कि ऑटो में बैठक कर जाने का मन ही नहीं करता है.

सौम्या गुप्ता, स्टूडेंट

ऑटो वाले अपनी मर्जी से दिलफेंक गाने बजाते है, जिसके कारण ऑटो में बैठने में भी शर्म आती है. प्रशासन को ऑटो से म्यूजिक सिस्टम हटाने चाहिए.

वंदना सिंह, हाउसवाइफ

ऑटो में लगे म्यूजिक सिस्टम को हटाने के लिए ट्रैफिक एसपी ओपी यादव से शिकायत की थी, लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ.

गुरुदर्शन सिंह, सेक्रेटरी, ऑटो यूनियन

ऑटो में तेज आवाज में और अश्लील गाने बजना ट्रैफिक पुलिस के अंदर नहीं आता है. यह मामला पुलिस देखती है.

मनोज कुमार, टीएसआई, टै्रफिक पुलिस