बीएस येदियुरप्पा ने कन्नड़ भाषा में शपथ ली
बेंगलुरु (आईएएनएस)। भाजपा के वर‍िष्‍ठ नेता बीएस येदियुरप्पा ने बेंगलुरु स्‍थ‍ित राजभवन में मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की है। येदियुरप्पा (75) ने कन्नड़ भाषा में शपथ ली। इस मौके पर बीजेपी के केंद्रीय और राज्य के नेता व नवनिर्वाचित विधायक मौजूद रहे।

फ‍िर कर्नाटक के cm बने येदियुरप्पा: कभी छोड़ द‍िया था बीजेपी का दामन,जानें अब तक का सफर

शिकारीपुरा विधानसभा से आठवीं बार जीत म‍िली
वहीं बेंगलुरु में राजभवन के बाहर उनके समर्थकों की भी काफी भीड़ रही। इस दौरान वहां सुरक्षा के खास इंतजाम क‍िए गए थे। बीएस येदियुरप्पा को कर्नाटक व‍िधानसभा चुनाव में मालनाद क्षेत्र के शिवमोग्गा जिले के शिकारीपुरा विधानसभा से आठवीं बार जीत म‍िली है।

फ‍िर कर्नाटक के cm बने येदियुरप्पा: कभी छोड़ द‍िया था बीजेपी का दामन,जानें अब तक का सफर

दक्षिण भारत में येदियुरप्पा बीजेपी के पहले सीएम

बीएस येदियुरप्पा ने सबसे पहले अक्‍टूबर 2007 में जेडी-एस-बीजेपी गठबंधन सरकार में मुख्‍यमंत्री बने थे। हालांक‍ि यह बहुत ही कम समय था और विधानसभा चुनाव 2008 में इन्‍होंने फ‍िर सीएम पद संभाला था। दक्षिण भारत में यह बीजेपी के पहले सीएम हैं।

फ‍िर कर्नाटक के cm बने येदियुरप्पा: कभी छोड़ द‍िया था बीजेपी का दामन,जानें अब तक का सफर

2012 में बीएस येदियुरप्पा ने छोड़ा था भाजपा

येदियुरप्पा ने 2012 में भाजपा से अलग होकर 2013 के व‍िधानसभा चुनाव से पहले केजेपी का गठन किया था। इससे बीजेपी हारी थी और कांग्रेस जीती थी। हालांक‍ि 2014 में पार्टी में वह फ‍िर से बीजेपी में शामिल हो गए थे। वह शिवमोग्गा से लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए थे।

फ‍िर कर्नाटक के cm बने येदियुरप्पा: कभी छोड़ द‍िया था बीजेपी का दामन,जानें अब तक का सफर

कांग्रेस ने जेडीएस को समर्थन देने का क‍िया था ऐलान

कर्नाटक में 12 मई को 222 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान हुए थे। इसके बाद 15 मई को पर‍िणाम घोषित हुए थे। इसमें बीजेपी को 104 सीटों पर जीत म‍िली थी। इस दौरान कांग्रेस ने जेडीएस को कर्नाटक में सरकार बनाने के ल‍िए समर्थन देने का ऐलान कर द‍िया था।

फ‍िर कर्नाटक के cm बने येदियुरप्पा: कभी छोड़ द‍िया था बीजेपी का दामन,जानें अब तक का सफर

सुप्रीम कोर्ट में रात में हुई थी इस मामले में सुनवाई
ऐसे में लारजेस्‍ट पार्टी को राज्‍यपाल द्वारा सरकार बनाने का आमंत्रण द‍िया जाने से कांग्रेस ने जेडीएस के साथ सुप्रीम कोर्ट का रुख क‍िया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा क‍ि फ‍िलहाल ऐसा कोई संवैधानिक अधिकार नहीं है ज‍िससे राज्यपाल के फैसले पर रोक लगाई जा सके।

कर्नाटक का नाटक : आधी रात को दूसरी बार खुला सु्प्रीम कोर्ट, येदियुरप्‍पा बनें सीएम लेकि‍न पेश करें ल‍िस्‍ट


ड्रोन से सीधे आपके घर पहुंचेगी चाय! IIT पासआउट ने शुरु किया अनोखा स्‍टार्टअप, जो ऐसे करेगा काम

National News inextlive from India News Desk