अस्पताल पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए की तोड़फोड़

Meerut. लिसाड़ीगेट क्षेत्र में मासूम की मौत के बाद गुस्साए परिजनों ने जमकर हंगामा करते हुए हॉस्पिटल में तोड़फोड़ कर दी. बाद में दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया.

लापरवाही का आरोप

शालीमार गार्डन निवासी अलीमुद्दीन के अनुसार उसकी दो वर्षीय पुत्र फौजिया को देर रात उल्टी-दस्त हो गए. जिसके चलते फौजिया को बुधवार की सुबह करीब नौ बजे आशियाना कॉलोनी स्थित एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. आरोप है कि दोपहर करीब 12 बजे हॉस्पिटल के डॉक्टर ने अपने हाथ खड़े करते हुए बच्ची को किसी अन्य हॉस्पिटल में दिखाने की सलाह दी.

जमकर की तोड़फोड़

बदहवास परिजन बच्ची को लेकर चले, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. जिसके बाद गुस्साए परिजनों ने हॉस्टिपल के डॉक्टरों के बच्ची के इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हॉस्पिटल पहुंचकर हंगामा कर दिया. परिजनों ने हॉस्पिटल के स्टॉफ के साथ हाथापाई करते हुए अस्पताल के गेट के शीशे आदि तोड़ डाले. सिटी मजिस्ट्रेट शैलेंद्र प्रताप सिंह समेत पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए. क्षेत्र के गणमान्य लोगों के हस्तक्षेप पर दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया और परिजनों ने बच्ची के शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया. पुलिस के मुताबिक किसी पक्ष की ओर से घटना की तहरीर नहीं दी गई है.