-डोमिनगढ़ स्टेशन के बाद उतरे बोगी के पहिए, कई ट्रेंस हुई प्रभावित

-जांच के लिए ऑफिसर्स लेवल की तीन सदस्यीय कमेटी गठित

GORAKHPUR: काठगोदाम से हावड़ा जा रही 13020 बाघ एक्सप्रेस गुरुवार को दोपहर एक बजे बेपटरी हो गई. डोमिनगढ़ स्टेशन यार्ड के पास उसकी एसएलआर बोगी के चार पहिए पटरी से उतर गए. हालांकि इस हादसे में कोई जान-माल का नुकसान नहीं हुआ. इस बीच पैसेंजर्स के बीच अफरा-तफरी का माहौल रहा. मामले की जानकारी होने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने तत्काल डीएम और एसएसपी को मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए. वहीं, स्टेशन के कुछ दूरी होने की वजह से राहत और बचाव टीम को पहुंचने में भी समय नहीं लगा. हादसे की वजह से दोपहर एक बजे से 3.30 बजे तक ट्रेन का संचालन प्रभावित रहा.

तेज आवाज के साथ लगा झटका

डोमिनगढ़ रेलवे स्टेशन के पास ट्रेन करीब 20 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से यार्ड में एंटर कर रही थी. इस बीच बीच होम सिग्नल के पास मौजूद प्वाइंट पर इंजन से ठीक पीछे वाले एसएलआर कोच के चार पहिए पटरी से उतर गए. पटरी से कोच के उतरते ही तेज आवाज हुई और झटका भी लगा. लोको पायलट्स की सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया, जिन्होंने खतरा भांपते ही ट्रेन को रोक लिया. इस बीच पैसेंजर्स के बीच अफरा-तफरी मच गई और लोग खुद को सेफ करने के लिए बोगियों से कूदने लग गए.

स्कार्ट में चल रहे रेलवे सुरक्षा बल के जवानों ने स्थिति को संभालने की कोशिश की. हादसे की सूचना मिलते ही रेलवे एडमिनिस्ट्रेशन भी एक्टिव हो गया. मौके पर संबंधित रेल ऑफिसर्स दौड़ पड़े, जबकि दुर्घटना सहायता यान को तत्काल घटना स्थल के लिए रवाना कर दिया गया. बेपटरी हुए एसएलआर कोच को काटकर अलग कर दिया गया. करीब 3.30 बजे ट्रेन गोरखपुर के लिए रवाना हुई और ट्रैफिक बहाल हो सका. इस मामले में जांच के लिए रेलवे ने ऑफिसर्स लेवल की तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित कर दी है.

महिला बोगी भी चपेट में

एसएलआर में महिला बोगी भी अटैच थी. एसएलआर के साथ महिला बोगी भी बेपटरी हो गई. ट्रेन के बेपटरी होते ही बोगी में मौजूद फीमेल पैसेंजर्स डरकर चिल्लाने लगीं. स्कोर्ट में चल रही आरपीएफ कांस्टेबल शांति यादव और मीना ने महिला यात्रियों को संभाला और उन्हें बोगी से नीचे उतारा. एसएलआर के ठीक पीछे जनरल बोगी के पैसेंजर्स के बीच भी भगदड़ मची रही और वह नीचे कूदने लगे. इस दौरान एक यात्री को हल्की-फुल्की चोट भी आई.

प्वाइंट पर लाइन के बीच पड़ी थी पटरी

इस मामले में रेलवे से जुड़े सोर्सेज की मानें तो प्वाइंट के पास रेल लाइन के बीच में एक लोहे की पटरी पड़ी थी. आशंका है कि इंजन तो लोहे की पटरी को क्रॉस कर गया, लेकिन उसके पीछे लगी एसएलआर बोगी के पहिए लोहे की पटरी पर चढ़ गए. इसकी वजह से ट्रेन बेपटरी हुई.

ब्लॉक रही डाउन लाइन, संचलन प्रभावित

बाघ एक्सप्रेस के बेपटरी होने से डाउन लाइन साढ़े तीन घंटे तक ब्लॉक रही. हालांकि अप लाइन चालू थी, लेकिन सुरक्षा को देखते हुए ट्रेनों को पास नहीं कराया जा रहा था. बाघ के पीछे चल रही 15656 कामाख्या एक्सप्रेस दोपहर एक बजे से ही जगतबेला में खड़ी रही. इसके अलावा 19037 बांद्रा-गोरखपुर अवध एक्सप्रेस और 22532 मथुरा-छपरा एक्सप्रेस का संचलन भी कुछ देर के लिए प्रभाि1वत रहा.

वर्जन

डाउन ट्रैक पर एसएलआर बोगी के कुछ पहिए डीरेल हो गए थे. यह घटना करीब एक बजे हुई और साढ़े तीन बजे संचलन शुरू कर दिया गया. इसकी जांच के लिए ऑफिसर्स की तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी गई है.

- संजय यादव, सीपीआरओ, एनई रेलवे