- भारतीय किसान यूनियन अवध गुट के अध्यक्ष ने लगाया आरोप

- रंगदारी न देने पर फोन पर दी जान से मारने की धमकी

- एसपी टीजी के आदेश पर जानकीपुरम थाने में रिपोर्ट दर्ज

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: भारतीय किसान यूनियन अवध गुट के अध्यक्ष राजू गुप्ता ने बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह पर 50 लाख रुपये रंगदारी मांगने और धमकाने का आरोप लगाया है. पीडि़त ने धमकी मिलने की शिकायत जानकीपुरम पुलिस से पहले की थी, लेकिन पुलिस ने उनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की थी. अब एसपी टीजी के आदेश पर जानकीपुरम पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और मामले की छानबीन शुरू कर दी है.

अधिग्रहण के मामले में उठाई थी आवाज

जानकीपुरम के सेक्टर आई निवासी भारतीय किसान यूनियन अवध गुट के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजा राम उर्फ राजू गुप्ता का कहना है कि पिछली सरकार में आगरा एक्सप्रेस वे के निमार्ण के दौरान जमीन अधिग्रहण कार्रवाई में कुछ लोगों ने फर्जी जमीन के दस्तावेज लगाकर करोड़ों रुपये का मुआवजा सरकार से हासिल कर लिया था. इसका पता चलने पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों से लेकर शासन से शिकायत की थी.

फोन पर मिली थी धमकी

राजू गुप्ता का कहना है इसको लेकर 18 अक्टूबर को उनके पास एक फोन आया. फोन करने वाले ने उनसे अपनी शिकायतों को शपथ पत्र के साथ वापस लेने और उसकी शिकायत से उसके परिचितों को आर्थिक नुकसान होने की बात कही. राजू गुप्ता ने अपनी शिकायतें वापस लेने से इनकार कर दिया. इस पर फोन करने वाले ने खुद को पूर्व सांसद, माफिया डॉन धनंजय सिंह बताते हुए अंजाम भुगतने की बात कही और फोन काट दिया.

सजा के तौर पर मांगी 50 लाख की रंगदारी

इसके अगले दिन राजू गुप्ता के पास दोबारा उसी नंबर से कॉल आई. इस बार उससे 50 लाख की रंगदारी मांगी गयी. फोन करने वाले ने राजू गुप्ता को 50 लाख लेकर गुडंबा थाने के आगे बुलाया. उसने इसे उसकी शिकायत की सजा और मुआवजा बताया. साथ ही फोन करने वाले ने इस बात की शिकायत करने पर उसके अपहरण और हत्या की धमकी भी दी. रंगदारी और धमकी भरी कॉल आने के बाद राजू गुप्ता ने इसकी शिकायत जानकीपुरम पुलिस से की, लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया. अब इस मामले में राजू गुप्ता ने एसपी टीजी से मिलकर शिकायत की. इस पर एसपी टीजी हरेन्द्र कुमार के आदेश पर शनिवार को जानकीपुरम पुलिस ने पूर्व सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ रंगदारी, धमकी देने सहित अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली है.