- बाल आयोग ने की शिकायतों की सुनवाई, दिए निर्देश

देहरादून. बाल आयोग में एक महिला ने अपने पति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. शिकायत है कि पति बच्चे के साथ अच्छा व्यवहार नहीं करता और उसकी पढ़ाई छुड़वाकर जबरन उससे चाउमिन शॉप में काम करवा रहा है. आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने तुरंत एक्शन लेते हुए श्रम प्रवर्तन अधिकारी और थाना सहसपुर से मामले की जांच कराकर रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए.

स्कूलों की मनमानी की शिकायतें

मंगलवार को बाल आयोग में कई मामलों की सुनवाई हुई. इस मौके पर आरटीआई के अंतर्गत विकासनगर के एक स्कूल में बच्चे को एडमिशन न दिए जाने को लेकर विनोद कुमार नामक व्यक्ति ने शिकायत की. साथ ही दून सरला एकेडमी के मामले में मुख्य शिक्षाधिकारी ने जांच रिपोर्ट आयोग के समक्ष पेश की. जांच रिपोर्ट में स्कूल में कई खामियों का खुलासा किया गया है.

3 की जगह 11 किताबें

दून इंटरनेशनल स्कूल डालनवाला के एक शिकायतकर्ता जेपी पांडे ने बताया कि कक्षा एक में पढ़ने वाले उनके पौत्र को एनसीईआरटी के मानकों के विरुद्ध तीन पुस्तकों के स्थान पर 11 पुस्तकें पढ़ाई जा रही हैं. वहीं वैश्य नर्सिग होम की लापरवाही से एक बच्चे के पांव खराब होने के मामले में आयोग ने नर्सिग होम को आदेश दिए कि वह बच्चे का इलाज करे.