बायें हाथ के तेज गेंदबाज मुस्तफिजुर ने भारतीय बल्लेबाजों को अपनी कटर से दहशत में डालकर 50 रन देकर पांच विकेट चटकाए, जिससे बांग्लादेश तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल करने में सफल रहा। वनडे इतिहास में बांग्लादेश की यह भारत के खिलाफ कुल चौथी और घरेलू मैदान पर तीसरी जीत है। बांग्लादेश की भारत के खिलाफ यह सबसे बड़ी जीत भी है। बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शीर्ष क्रम के तीन बल्लेबाजों की अर्धशतकीय पारियों की मदद से 49.4 ओवर में 307 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया। भारत के खिलाफ वनडे में यह बांग्लादेश का सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। इससे पहले भारत के खिलाफ बांग्लादेश का उच्चतम स्कोर 296/6 था, जो उसने 2010 में अपने घरेलू मैदान पर ही बनाया था।

अच्छी शुरूआत के बावजूद धराशायी टीम इंडिया
पिछले रिकॉर्ड और भारतीय बल्लेबाजी क्रम को देखते हुए भारत की जीत को लेकर शुरुआत में कोई अंदेशा नहीं था। रोहित शर्मा (63) और शिखर धवन (30) की सलामी जोड़ी ने 16 ओवर में 95 रन जोडक़र भारत को अच्छी शुरुआत भी दी, लेकिन अगले दस ओवर में बांग्लादेशी गेंदबाजों ने मैच का नक्शा बदल दिया। पहला विकेट 95 रन पर गंवाने वाली भारतीय टीम का स्कोर 26वें ओवर तक 128/5 हो गया। उसने 33 रन के अंदर पांच विकेट गंवाए। यहां से सुरेश रैना (40) और रवींद्र जडेजा (32) ने पारी को संवारने की कोशिश की, लेकिन उनका प्रयास नाकाफी रहा। लगातार अंतराल पर विकेट गंवाने वाला भारत कभी भी मैच जीतने की स्थिति में नजर नहीं आया और अंतत: पूरी टीम 46 ओवर में 228 रन पर सिमट गई। तस्कीन अहमद के बाद पदार्पण मैच में मुस्तफिजुर पांच विकेट लेने वाले दूसरे बांग्लादेशी गेंदबाज बने। तस्कीन ने पिछले साल भारत के खिलाफ यह कारनामा किया था।

बंगलादेश ने की धुंआधार शुरूआत
इससे पहले, बांग्लादेश ने अच्छी शुरुआत के बाद बीच में तीन विकेट गंवा दिए थे, लेकिन उसकी टीम ने दिखाया कि वह अब पहले जैसी नहीं है जो दबाव में बिखर जाती थी। भारतीय गेंदबाजों ने हालांकि आखिरी सात ओवरों में पांच विकेट लिए, लेकिन वे बांग्लादेश को 300 रन के पार पहुंचने से नहीं रोक पाए। सलामी बल्लेबाज तमीम इकबाल (60) और सौम्य सरकार (54) ने पहले विकेट के लिए केवल 13.4 ओवर में 102 रन की साझेदारी करके कप्तान मशरफे मुर्तजा के टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के फैसले को सही साबित किया।

बारिश ने भी दिखाया अपना खेल
बीच में बारिश ने व्यवधान डाला, जिसके बाद बांग्लादेश ने 23 रन के अंदर तीन विकेट गंवा दिए। लेकिन शाकिब (52), शब्बीर रहमान (41) और नासिर हुसैन (34) ने बांग्लादेश को बैकफुट पर नहीं जाने दिया। अश्विन हालांकि भारत के सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 51 रन देकर तीन विकेट लिए। भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव ने दो-दो विकेट हासिल किए। बारिश से पहले सरकार का विकेट गंवाने के बावजूद बांग्लादेश मजबूत स्थिति में दिख रहा था, लेकिन इसके बाद उसने जल्द ही तीन विकेट गंवा दिए। इनमें तमीम भी शामिल थे, जिन्होंने इससे पहले भारतीय तेज गेंदबाजों विशेषकर उमेश यादव को खास निशाने पर रखा। अश्विन ने बांग्लादेश पर यह कहर बरपाया। बारिश से तमीम की एकाग्रता भंग हो गई और उन्होंने इसके बाद केवल एक रन जोडक़र अश्विन की गेंद को सीधे लांग ऑफ पर खड़े रोहित शर्मा के पास पहुंचा दिया।

तमीम ने 62 गेंद खेली तथा सात चौके और एक छक्का लगाया। अश्विन ने इसके बाद अपना पदार्पण मैच खेल रहे लिटन दास (आठ) को पगबाधा आउट किया तो मुशफिकुर रहीम (14) को लंबा शॉट खेलने की सजा दी। इससे बांग्लादेश का स्कोर एक विकेट पर 123 रन से तीन विकेट पर 146 रन हो गया। शाकिब और रहमान ने सुनिश्चित किया कि टीम दबाव में नहीं बिखरे और इस बीच कुछ उम्दा शॉट लगाकर दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया।

Hindi News from Cricket News Desk

Cricket News inextlive from Cricket News Desk