ढाका/इस्लामाबाद (पीटीआई)। इस्लामाबाद में बांग्लादेश उच्चायोग ने राजनयिक तनाव को लेकर पाकिस्तानी नागरिकों को पिछले एक सप्ताह से वीजा जारी करना बंद कर दिया है। बांग्लादेशी अधिकारियों ने मंगलवार को इस बात की पुष्टि की। बता दें कि बांग्लादेश और पाकिस्तान के बीच 2013 में उस वाकये के बाद तनाव बढ़ गया, जब ढाका ने 1971 के युद्ध अपराधियों में से कई को फांसी देने का फैसला किया। बांग्लादेश और पाकिस्तान के बीच राजनयिक तनाव पिछले साल से बढ़ा है जब ढाका ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त को वीजा देने से इनकार कर दिया था। बांग्लादेश विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, 'आप इसे पाकिस्तानी विरोध का एक संकेत कह सकते हैं।'

एच-1बी वीजा प्रावधान में बदलाव कर हाइली स्किल्ड विदेशी प्रोफेशनल्स को लुभाना चाहते हैं ट्रंप

अमेरिका : H-1B वीजा फ्रॉड मामले में भारतवंशी गिरफ्तार


पहले पाकिस्तान ने वीजा जारी करने से किया इनकार
हालांकि, ढाका में विदेशी मंत्रालय की तरफ से अभी तक कोई औपचारिक पुष्टि नहीं हुई है और पाकिस्तानी नागरिकों को वीजा रोके जाने पर कोई आधिकारिक अधिसूचना जारी नहीं की गई है लेकिन नाम न बताने की शर्त पर एक अधिकारी ने कहा कि बांग्लादेशी राजनयिकों को पाकिस्तानियों का वीजा जारी करने से मना कर दिया गया है क्योंकि पाकिस्तान भी बांग्लादेशी नागरिकों के वीजा आवेदन को खारिज कर दे रहा है। बांग्लादेश के एक अधिकारी ने कहा कि ढाका में पाकिस्तानी उच्चायोग भी वीजा आवेदनों को आगे  नहीं बढ़ा रहा है, बांग्लादेश उच्चायोग के प्रेस और वीजा मामलों के कॉउन्सिलर इकबाल हुसैन को उनके परिवार से मिलने से रोक दिया गया है। बता दें कि इस्लामाबाद में बांग्लादेश उच्चायोग ने पिछले सोमवार से पाकिस्तानी नागरिकों का एक भी वीजा जारी नहीं किया है। पाकिस्तानी उच्चायोग की तरफ से इस मामले में कोई भी टिप्पणी अभी तक नहीं की गई है।

International News inextlive from World News Desk