agra@inext.co.in
AGRA : साइबर टीम के हाथ एक ऐसा गिरोह लगा है जो अकाउंट में लोगों का नंबर अपडेट करने के बहाने अकाउंट खाल कर रहे थे। एक शिकायत पर पुलिस ने जांच की तो पांच लोग हाथ में आए। इसमें दो सरकारी कर्मचारी, दो बैंक फ्रेंचाइजी व एक अन्य हैं। पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है। पुलिस मामले में आज प्रेसवार्ता कर खुलासा करेगी।

अकाउंट से साफ हुए थे रुपये
सूत्रों के मुताबिक थाना एत्माद्उद्दौला में एक व्यक्ति के अकाउंट से दो लाख से अधिक की धनराशि निकल गई। युवक ने इस मामले में पुलिस से शिकायत की। मामले में मुकदमा दर्ज हुआ और जांच साइबर सेल को गई। जांच में एक के बाद एक परतें खुलती गईं। अकाउंट साफ करने वाले कहीं बाहर के नहीं निकले बल्कि यहीं के थे।

सभी को पुलिस ने उठाया
पुलिस की जांच में सबसे पहले दो सरकारी कर्मचारी हाथ आए। सूत्रों के मुताबिक इसमें से एक बैंक कर्मी है। इसके अलावा दो युवक वह हैं जो बैंक की फ्रेंचाइजी लेकर बैठे हैं। इनके साथ एक अन्य युवक भी है जो इनके पास शिकार को लेकर आता था। इस तरह पांच लोगों ने मिलकर गैंग तैयार किया। गैंग में अन्य लोगों के होने की संभावना जताई जा रही है पुलिस इसकी पड़ताल में जुटी है।

इस तरह करते हैं काम
सूत्रों के मुताबिक पुलिस की पड़ताल में निकल कर आया कि जिन लोगों ने बैंक की  फ्रेंचाइजी ले रखी है वह लोगों के मोबाइल नंबर को अकाउंट में अपडेट कर रहे थे। इसमें बैंककर्मी की मिली भगत एटीएम खोने की एप्लीकेशन दी जाती थी। इसके बाद बैंक से नये एटीएम लेकर सीधे-साधे लोगों के रुपये निकाले जाते थे। लोग समझ नहीं पाते थे कि ऐसा क्यों हो रहा है।

कई बार आई हैं शिकायत
थानों पर कई बार इस तरह की शिकायतें आई हैं कि बिना पिन नंबर, सीवीवी बताए भी अकाउंट से रुपये निकल गए। सम्भवत: ऐसे मामलों में इसी तरह से लोगों को चूना लगाया गया होगा। फिलहाल पुलिस ने अधिकारिक रूप से इस मामले में कुछ नहीं बताया है। पुलिस आज मामले में प्रेसवार्ता कर बड़ा खुलासा
कर सकती है।

Crime News inextlive from Crime News Desk