-पीजीआई क्षेत्र में सरेशाम घटना से हड़कंप

-ड्यूटी से लौटते वक्त बदमाशों ने घात लगाकर किया हमला

-पुलिस ने किया लूटपाट से इंकार

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: पीजीआई इलाके में शुक्रवार शाम ड्यूटी से घर लौट रहे बैंक कैशियर को बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार दी और मौके से फरार हो गए. राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने गंभीर रूप से घायल कैशियर को इलाज के लिये ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया जहां डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. शुरुआती जांच के बाद पुलिस ने लूटपाट से इंकार किया है. पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

बाइक से लौट रहे थे

रायबरेली के रतापुर गांव के मूल निवासी राहुल कुमार सिंह (42) एयरफोर्स से रिटायर्ड थे. वे वृंदावन कॉलोनी के सेक्टर नौ रायबरेली रोड स्थित एल्डिको अपार्टमेंट में पत्‍‌नी ममता व नौ साल की बेटी अनवी के साथ रहते थे. एयरफोर्स से रिटायर होने के बाद राहुल गोसाईगंज स्थित यूको बैंक में कैशियर के पद पर कार्यरत थे. शुक्रवार की शाम राहुल ड्यूटी खत्म कर अपनी बाइक पैशन प्रो से घर लौट रहे थे. इसी दौरान जब वे सेवाई चौराहे के करीब निजामपुर मझिगवां से कुछ दूरी पर पहुंचे, तभी नहर की पटरी के किनारे सूनसान जगह पर पहले से घात लगाए बैठे बदमाशों ने पीछे से उनकी पीठ पर गोलियां मार दीं. जिससे उनकी बाइक अनियंत्रित हो गई और वे जमीन पर धराशायी हो गए.

राहगीरों ने दी सूचना

गोलियां मारने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए. कुछ दूर मौजूद चरवाहे और राहगीरों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. जानकारी मिलने पर सीओ मोहनलालगंज डॉ. बीनू, इंस्पेक्टर पीजीआई व इंस्पेक्टर गोसाईगंज हमराह फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे. पुलिस ने आनन-फानन गंभीर रूप से घायल राहुल को इलाज के लिये ट्रामा सेंटर पहुंचाया जहां डॉक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. शुरुआती छानबीन में राहुल का पर्स व मोबाइल मौके पर ही पड़ा मिला. जानकारी मिलने पर सर्विलांस सेल को भी जांच में जुटाया गया है. एसपी नॉर्थ विक्रांत दीप ने बताया कि घटना के पीछे रंजिश की आशंका लग रही है. फिर भी पुलिस सभी एंगल पर जांच कर रही है. पुलिस के मुताबिक, राहुल चार भाइयों में दूसरे नंबर पर थे.

बॉक्स.......................

बैंक की सीसीटीवी खंगालेगी पुलिस

सीओ डॉ. बीनू ने बताया कि पुलिस शनिवार को बैंक का सीसीटीवी फुटेज खंगालेगी. जिससे यह पता करने की कोशिश की जाएगी कि कहीं हमलावर बैंक से ही तो राहुल का पीछा नहीं कर रहे थे. वहीं, इलाके में घटना के वक्त एक्टिव रहे मोबाइल फोन का भी डाटा मंगाया गया है.

बॉक्स......................

मकान बनवा रहे थे राहुल

आस-पड़ोस के लोगों ने बताया कि राहुल सिंह ने कुछ समय पहले ही पीजीआई के सरस्वतीपुरम में एक प्लॉट खरीदा था. जिस पर वो घर बनवा रहे थे. गोली लगने के बाद राहगीरों ने उनके मोबाइल से लास्ट डायल नंबर पर कॉल किया जो उनका मकान बना रहे राजगीर का था. राहगीरों से सूचना मिलने पर राजगीर ने ही परिजनों को फोन कर घटना की सूचना दी. जिसके बाद राहुल के पिता अजय पाल, मां उर्वशी और पत्‍‌नी ममता मौके पर पहुंचे.