- जनरल, ओबीसी और एससी कोटे के टॉप फाइव को कोई सूचना नहीं दी गयी

- 55 संविदा परिचालक पद के लिए विभिन्न शहरों से आए थे 677 ऑनलाइन आवेदन

BAREILLY:

उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के बरेली परिक्षेत्र में एक और धांधली का मामला सामने आया है. इस बार संविदा परिचलकों की भर्ती प्रक्रिया में सेटिंग का खेला चला. भर्ती प्रक्रिया में मेरिट वाले कैंडिडेट्स की बजाय ऐसे लोगों की भर्ती कर दी गई. जिन्होंने भर्ती के लिए ऑनलाइन आवदेन तक नहीं किया था. चर्चा है कि अधिकारियों ने इसके लिए मोटी रकम ली है.

55 पद के लिए मांगे थे आवेदन

बरेली परिक्षेत्र में संविदा परिचालकों की 55 पदों के लिए मार्च में ऑनलाइन आवेदन मांगें गए थे. इसके लिए बरेली, इलाहाबाद, आगरा, बदायूं सहित अन्य जगहों से करीब 677 आवेदन आए थे. इनमें जनरल के 297 आवेदन, ओबीसी के 204 और एससी कोटे के 176 आवेदन आए थे. जिनकी मेरिट भी तैयार की गई थी. हालांकि पूरी भर्ती प्रक्रिया में धांधली बरती गई. मेरिट में आने वाले आवेदकों को ज्वॉइनिंग लेटर, मैसेज या फोन से कोई सूचना नहीं दी गयी. ओबीसी केटेगरी में 80 परसेंट के साथ नंबर एक पोजिशन पर आने इलाहाबाद चकिया सथर के शिव प्रसाद से जब इस संबंध में बात हुई तो उन्होंने बताया कि मुझे भर्ती के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है. जबकि, ओबीसी कोटे की भर्ती की प्रक्रिया पूरी कर ली गयी है. एससी केटेगरी के धनौली आगरा के उदयवीर सोनी और जनरल केटेगरी के बीरेंद्र कुमार का भी यही कहना है. इन्हें भी किसी प्रकार की सूचना नहीं दी गयी.

आवेदन न करने के बाद भी भर्ती

चर्चा है कि भर्ती के लिए पैसे की डिमांड पूरी न करने पर जनरल, ओबीसी और एससी केटेगरी के टॉप फाइव कैंडिडेट्स को बाहर का रास्ता दिखाया गया है. मेरिट में आने के बाद भी इन्हें कोई सूचना नहीं दी गयी. इसके अलावा बाकी मेरिट वालों को भी अधिकारियों ने कोई तवज्जो नहीं दी. इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जनरल केटेगरी के करीब 25 सीटों के लिए मेरिट की लिस्ट 105 आवेदकों तक जा पहुंची. 55 पदों में से फिलहाल, 51 पदों पर भर्ती हो भी चुकी है. इतना ही नहीं संविदा परिचालक पद के लिए 9 भर्ती ऐसी भी हुई है जिन्होंने ऑनलाइन आवेदन ही नहीं किया था. बावजूद अधिकारियों ने उनसे पैसे लेकर परिचालक पद पर भर्ती कर ि1लया है.

भर्ती प्रक्रिया पर एक नजर में

- 15 से 18 मार्च तक मांगे गए आवेदन.

- 55 पद के लिए 677 आवेदन आए.

- 18 से 35 एज लिमिट.

- इंटर पास.

इस आधार पर बनी मेरिट

-मृतक अश्रित.

- भूतपूर्व सैनिक.

- अर्ध सैनिक बल.

- परिवहन निगम के रिटायर कर्मचारी.

- होमगार्ड.

- एनसीसी.

- प्रांतीय रक्षा दल.

- कम्प्यूटर ए लेबल कोर्स.

- आईटीआई.

टॉप 5 जिनकी नहीं हुई भर्ती

जनरल केटेगरी

नाम - मा‌र्क्स परसेंटेज

धीरेंद्र कुमार - 94.2

प्रवीण कुमार मिश्रा - 84

नागेंद्र सिंह - 81.9

दिनेश कुमार उपाध्याय- 81.5

हिमांशु मिश्रा - 79.2

...............

ओबीसी केटेगरी

शिव प्रसाद - 80

प्रवीण कुमार - 75.5

दिवाकर बाबू मथुरिया - 75.4

नितिन कुमार - 75.1

कौशल - 75

..............

एससी केटेगरी

उदवीर सोनी - 87.6

जितेंद्र कुमार - 78.83

उपेंद्र प्रताप - 77.2

सत्य कुमार - 75

अभिषेक कुमार - 74.8

बिना आवेदन हाे गए भर्ती

- रविंद्र सिंह पुत्र राम स्वरुप.

- रमाकांत पुत्र मान सिंह.

- सत्यदेव पुत्र बच्चू लाल.

- सियाराम पुत्र रक्षाराम.

- रमन पांडेय पुत्र रामगुलाब पांडेय.

- रिजवान खां पुत्र शौकीन खां.

- विनय कुमार राना पुत्र ध्यान सिंह.

- सवेंद्र कुमार पुत्र रामआसरे.

- प्रदीप कुमार पुत्र महेंद्र कुमार.

...........................

भर्ती प्रक्रिया में पूरी पारदर्शिता बरती गई है. मेरिट वालों का ही चयन किया गया है. अभी आवेदकों को बुला कर वेरीफिकेशन किया जा रहा है. सभी को सूचना दी गयी थी.

प्रभाकर मिश्र, आरएम, रोडवेज

रोडवेज की ओर से मुझे कोई सूचना नहीं दी गयी है. पता किया तो बोला गया अभी भर्ती नहीं हो रही है. यह तो मुझे आपसे पता चल रहा है कि ओबीसी कोटे मेरा सबसे अधिक मा‌र्क्स है.

शिव प्रसाद, आवेदक