बरेली डीआईओएस ने पावर एंजिल्स बनाने के लिए शुरु किए प्रयास
बरेली शहर में छात्राओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए इंटर कॉलेज स्तर पर पावर एंजिल्स बनाई जाएंगी। जिन्हें एसपीओ (स्पेशल पुलिस ऑफिसर) का दर्जा प्राप्त होगा। उन्हें वूमेन पावर लाइन द्वारा बकायदा ट्रेनिंग कराई जाएगी। डीआईओएस ने इस संबंध में सभी कॉलेजेज के प्रिंसिपल को लेटर लिखकर पावर एंजिल्स बनने के लिए इच्छुक लड़कियों से आवेदन करने को कहा है।

यूपी में अब स्‍कूल ग‌र्ल्स बनेंगी स्पेशल पुलिस ऑफिसर! छेड़छाड़ के खिलाफ खुद लडेंगी अपनी लड़ाई

मनचलों को मिलेगा सबक
शासन ने बरेली शहर में मनचलों को सबक सिखाने का नायाब तरीका ईजाद किया है। उसने क्लास 10 से ऊपर की अध्ययनरत छात्राओं को पावर एंजिल्स बनाने का फैसला लिया है। शासन ने इस संबंध में 25 नवंबर को शासन ने सभी डीआईओएस को लेटर लिखा है। इसमें पावर एंजिल के गठन और तरीके के बारे में बताया है। लेटर में लिखा है पावर एंजिल बनने वाली छात्रा को 24 वर्ष तक एसपीओ का दर्जा मिलेगा। इन छात्राओं की जिम्मेदारी मनचलों को सबक सिखाना होगा। ताकि अन्य छात्राएं अपने आप को सुरक्षित महसूस करें। इसके अलावा इन्हें छेड़छाड़ की शिकायत करने के तरीकों की भी ट्रेनिंग समय- समय पर वूमेन पावर लाइन द्वारा दी जाएगी।

यूपी में अब स्‍कूल ग‌र्ल्स बनेंगी स्पेशल पुलिस ऑफिसर! छेड़छाड़ के खिलाफ खुद लडेंगी अपनी लड़ाई

लड़कियों खुद बनेंगी अपनी ताकत
इस योजना के द्वारा शासन की मंशा है कि सभी पॉवर एंजिल्‍स को मार्शल आर्ट की प्रॉपर ट्रेनिंग दी जाएगी। छेड़छाड़ कैसे होती है इसे समझाने के साथ ही छेड़छाड़ की शिकायत कैसे की जाएगी, इसकी भी ट्रेनिंग इस SPO को दी जाएगी। इन्‍हें महिला अधिकारों और छेड़छाड़ से जुड़े कानूनी बारीकियां भी बताई जाएंगी, ताकि ये मनचलों के खिलाफ वार करने में पूरी तरह से सक्षम बनें और महिला के खिलाफ अपराध रोकने में पुलिस का साथ दें। यानि कुछ दिन बाद शहर में 'पॉवर एंजिल्‍स' आर्मी लड़कियों को देगी सुरक्षा का माहौल।

National News inextlive from India News Desk

National News inextlive from India News Desk