-डायट पर पहले दिन दो घंटे से अधिक डिस्टर्ब रहा प्रॉसेस, कई की छूटी काउंसलिंग

-टीचर्स ने अनियमितता का आरोप लगाते हुए दिया धरना, बुलायी गयी पुलिस

varanasi@inext.co.in

VARANASI

प्राइमरी स्कूल के टीचर्स ने समायोजन के विरोध में बुधवार को सारनाथ स्थित डायट में जमकर हंगामा व प्रदर्शन किया. इस दौरान सरप्लस टीचर्स ने नारेबाजी भी की. टीचर्स के जोरदार विरोध के चलते काउंसलिंग घंटों प्रभावित रही. आक्रोश को देखते हुए बीएसए ने पुलिस को बुलाया. इसके बाद पुलिस-प्रशासन की मौजूदगी में देर शाम तक काउंसलिंग हुई. बता दें कि विभिन्न स्कूल्स में 707 टीचर्स सरप्लस हैं. वहीं दूसरी ओर विभिन्न स्कूल्स में 864 टीचर्स की कमी बनी हुई है.

533 टीचर्स का समायोजन

सरप्लस टीचर्स को दूसरे स्कूल्स में समायोजित करने के लिए सुबह दस बजे डायट पर बुलाया गया था. तीन दिनों तक चलने वाली काउंसलिंग के पहले दिन प्राइमरी स्कूल के सरप्लस 533 टीचर्स को समायोजित करना था. वहीं समायोजन में अनियमितता का आरोप लगाते हुए टीचर्स धरने पर बैठ गए और हंगामा करने लगे. दावा किया गया कि कुछ टीचर्स ने मनमाफिक स्कूल एलॉट करने का प्रेशर बनाया. अफरातफरी में कुछ प्लास्टिक की कुर्सियां भी टूट गई. अव्यवस्था का आलम यह रहा कि दर्जनों टीचर्स की काउंसलिंग छूट गई. वहीं टीचर्स का बढ़ते आक्रोश को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस के जवानों को बुला लिया गया. इसके बाद भी घंटों शोर-गुल व नारेबाजी चलती रही.

वार्ता के बाद माने

लगभग दो घंटे तक हंगामा व धरना प्रदर्शन के बीच बीएसए जय सिंह ने दो राउंड शिक्षक नेताओं से वार्ता की. अंतत: काउंसलिंग विकल्प भरने के लिए तैयार हो गए. विरोध के बीच काउंसलिंग प्रॉसेस देर शाम तक चला. धरना-प्रदर्शन में मुख्य रूप से पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष रविंद्र नाथ यादव, प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष अजीत सिंह टीका, राजीव उपाध्याय, रमेश फौजी, शैलेंद्र, दीपक गुप्ता, अंजूलता, ममता, सविता, सुमित्रा, मीरा, ज्योति भूषण त्रिपाठी सहित अन्य लोग शामिल रहे.

लेडीज टीचर्स रहीं परेशान

समायोजन के लिए गणेश चतुर्थी के दिन काउंसलिंग रखने से लेडिज टीचर्स में भी नाराजगी रही. मौके पर पहुंची अधिकतर लेडिज टीचर को गणेश चतुर्थी का निर्जला व्रत होने के बावजूद काउंसलिंग के लिए आना पड़ा.