JAMSHEDPUR: टाटा मेन हॉस्पिटल (टीएमएच) में शनिवार को एक मरीज की मौत होने के बाद उसके परिजनों ने हंगामा किया। मामला बढ़ते देख मौके पर बिष्टुपुर पुलिस पहुंची और शांत कराया। वहीं टीएमएच प्रबंधन ने भी उचित कार्रवाई का भरोसा दिया, तब जाकर परिजन हटे।

कदमा स्थित भाटिया बस्ती निवासी भरत ठाकुर की पत्नी प्रियंका देवी (26) को शुक्रवार की दोपहर करीब ढाई बजे प्रसव पीड़ा होने पर भर्ती कराया गया था। तब महिला सामान्य थी। रात 8.30 बजे चिकित्सकों ने कहा कि प्रसव के लिए सर्जरी करनी होगी। इसपर परिजन तैयार हो गए और बच्चा स्वस्थ हुआ। प्रसव के बाद प्रियंका ने बातचीत करना बंद कर दिया। परिजनों ने इसका कारण पूछा तो पीलिया रोग बताया गया। रात करीब डेढ़ बजे मरीज को हार्ट अटैक आने की बात कहते हुए उसे आइसीयू ले जाया गया। करीब डेढ़ घंटे के बाद यानी रात तीन बजे मरीज की मौत हो गई।

भड़के परिजन

मौत की सूचना जैसे ही परिजनों को दी गई तो वे भड़क गए और डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। परिजन शनिवार की दोपहर दो बजे तक कार्रवाई की मांग पर अड़े रहे। इसे देखते हुए टीएमएच प्रबंधन ने मृतक के परिजनों के साथ एक बैठक की और जांच कर उचित कार्रवाई का भरोसा दिया। जांच के लिए 10 दिन का समय मांगा गया है। इधर, बच्चा की स्थिति भी गंभीर बताई जा रही है। उसका इलाज भी टीएमएच अस्पताल में चल रहा है। परिजनों ने अबतक इलाज पर खर्च हुई राशि को माफ करने व नवजात को मुफ्त में इलाज करने की मांग की है। इस अवसर पर समाजसेवी पारसनाथ मिश्रा सहित अन्य लोग उपस्थित थे।