patna@inext.co.in

PATNA : अब राजधानी के सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पतालों के बेड चमकते नजर आएंगे. दिन के हिसाब से बेड की चादर का रंग बदलेगा. इसके लिए राज्य सरकार ने आदेश जारी कर दिया है. सभी चादरें हैंडलूम की होंगी. इस चादर को सरकार ने सप्तरंगी का नाम दिया है. इसके साथ ही अस्पताल और मेडिकल कॉलेजों के कार्यालयों और कमरों के डोर भी इन्हीं हैंडलूम की रंग-बिरंगी चादरों से सजाया जाएगा. किसी बाहरी कंपनी या फिर ब्रांड की चादर के इस्तेमाल पर रोक लगाई जाएगी.

उद्योग विभाग आगे आया

सरकार ने विभाग को ऐसे हैंडलूम की चादरों का निर्माण कर अस्पताल तथा मेडिकल कॉलेजों को उपलब्ध कराने का आदेश दिया है. ये चादर प्रदेश के वे बुनकर बुनेंगे जो हैंडलूम के कार्य से जुड़े हैं लेकिन कुछ सालों से उनकी स्थिति दयनीय है. कार्य कर रहीं एजेंसियों के माध्यम से हस्तकरघा श्रमिकों को रॉ मैटेरियल उपलब्ध कराया जाएगा. जहां सप्तरंगी चादरों का निर्माण कर डिमांड के अनुसार सरकारी अस्पताल और मेडिकल कॉलेजों को उपलब्ध कराया जाएगा.