-उप गन्ना आयुक्त पर फांसी लगाने की बात कहने का लगाया आरोप

-एडीएम सिटी ने किसान की बात सुनकर निकाला हल,

BAREILLY: एक तरफ प्रदेश में किसान गन्ने का पेमेंट न मिलने से परेशान है तो दूसरी ओर अधिकारी उसके गन्ने की पर्चियां बनाने में ही खेल कर रहे हैं. जब किसान अपनी शिकायत लेकर जाते हैं तो उन्हें आत्महत्या करने के लिए बोल दिया जाता है. बरेली में भी उप गन्ना आयुक्त पर ऐसे ही गंभीर आरोप लगे हैं. वेडनसडे को किसान उप गन्ना आयुक्त के ऑफिस में पंखे से लटककर सुसाइड करने वाला था लेकिन उससे पहले ही एलआईयू ने उसे ट्रेस कर पकड़ लिया और एडीएम सिटी के सामने पेश किया गया. एडीएम सिटी ने सभी अधिकारियों को बुलाकर उसकी समस्या का हल निकाला. एडीएम ने अधिकारियों के द्वारा किसान से अभद्र व्यवहार कराने की जांच का आश्वासन दिया है.

40 बीघा को कर दिया 4 बीघा
रेवाराम, भोजीपुरा के जालिनगला गांव का रहने वाला है. वह गन्ना सोसायटी का मेंबर है. मेवाराम का आरोप है कि उसकी 30 बीघा जमीन पर गन्ना है लेकिन गन्ना सर्वेयर ने सिर्फ 4 बीघा जमीन दिखा दी, जिससे उसकी पर्चियां नहीं बनीं. उसने जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायत की तो सर्वे सही कर दिया लेकिन पेड़ी की जगह बबारी कर दिया. उसने 27 नवंबर को उप गन्ना आयुक्त सतेंद्र सिंह से लिखित शिकायत की और कहा कि मैं परेशान हूं तो जवाब मिला कि परेशानी का समाधान सुसाइड है, रस्सी लेकर पंखे पर लटक जाओ. जब उसने इस पर विचार करने के लिए कहा तो उसे वहां से भगा दिया और अपने आप चले गए. उसके बाद उसने 5 दिसंबर को उप गन्ना आयुक्त ऑफिस में सुसाइड करने के लिए कहा तो उसपर दबाव बनाया गया और गन्ना माफिया बनाकर रासुका लगाने की धमकी दी गई.

एलआईयू ने किया ट्रेस
किसान की धमकी के चलते एलआईयू की टीम भी लगाई गई. एलआईयू टीम ने उसे कलेक्ट्रेट में एडीएम सिटी ओपी वर्मा के सामने पेश किया गया. एडीएम सिटी ने मौके पर गन्ना सर्वेयर, जिला गन्ना अधिकारी और कोतवाली प्रभारी को बुलाया. उसके सामने इंटरनेट पर उसके गन्ने की पर्ची चेक की तो उसकी 22 पर्चियां बनी थीं और उसकी समस्या का समाधान कर दिया गया. एडीएम के समझाने पर किसान ने सुसाइड करने का मामला टाल दिया, लेकिन उसने अधिकारियों की जांच की मांग की है.

गन्ना की पर्चियों का समाधान पहले ही हो चुका था. इंटरनेट पर 22 पर्ची शो हो रही हैं. सुसाइड करने की बात पर किसान को समझा दिया गया है तो उसने मान लिया है. किसान की मांग पर अधिकारियों की अभद्रता की जांच करायी जा रही है.

ओपी वर्मा, एडीएम सिटी

आत्महत्या के लिए आरोप मिथ्या हैं. हमने पंखे से लटकने की बात नहीं की है. किसान के गन्ने का सर्वे कराकर पर्ची बना दी गई हैं.

सतेंद्र कुमार, उप गन्ना आयुक्त