-पिछले साल इलाहाबाद हाईकोर्ट की दखल के बाद 10 जुलाई तक था हॉस्टल एलाटमेंट का वादा

-लेकिन उस समय भी पूरे साल हॉस्टल के लिए भटकते रहे नवप्रवेशी

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में एक बार फिर हॉस्टल एलॉटमेंट चैलेंज बन गया है. अगस्त खत्म होने को है और आगे छात्रसंघ चुनाव हैं. ऐसे में नवप्रवेशियों के लिए यह चिंता का बड़ा विषय है कि आखिर हॉस्टल एलॉटमेंट कब तक शुरू होगा ? फिलहाल तो जानकारों का कहना है कि हॉस्टल एलॉटमेंट की लिस्ट नवम्बर तक भी आ जाए तो बड़ी बात होगी. इसके लिए भी एयू एडमिनिस्ट्रेशन को कड़ी मशक्कत करनी होगी.

28 अप्रैल को हुआ था भारी बवाल

बता दें कि पिछले साल 28 अप्रैल को हॉस्टल वॉशआउट को लेकर भारी बवाल मचा था. तब एयू एडमिनिस्ट्रेशन ने पुलिस और प्रशासन की मदद से सभी हॉस्टल खाली करवाए थे. उस समय हॉस्टल का मामला इलाहाबाद हाईकोर्ट भी पहुंचा था. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इसका संज्ञान पूरी सख्ती से लिया था. तब एयू ने हाईकोर्ट में दाखिल जवाब में कहा था कि वो सभी को 10 जुलाई तक हॉस्टल दे देगा. लेकिन समय बीतने के साथ ऐसा हो नहीं पाया और हाल यह हुआ कि पूरे साल हॉस्टल ही एलॉट होता रहा.

बढ़ गई है बेचैनी

ऐसे में जानकारों का मानना है कि जब पिछले साल बवाल और इलाहाबाद हाईकोर्ट की दखल के बाद छात्र-छात्राओं को समय पर हॉस्टल नहीं मिल सका तो साल 2018 में क्या मिलेगा ? फिलहाल तो एयू एडमिनिस्ट्रेशन की सुस्त चाल भी इस ओर ही इशारा कर रही है कि हॉस्टल समय से मिलना अब असंभव है. जानकारों का कहना है कि बीच में छात्रसंघ चुनाव के चलते नवम्बर से पहले हॉस्टल एलॉट होना मुश्किल ही है. उधर, नवप्रवेशियों की टेंशन इस बात को लेकर भी बढ़ गई है कि उन्हें नवम्बर-दिसम्बर में एंड सेमेस्टर एग्जाम में भी शामिल होना है. ऐसे में वह कहां रहकर तैयारी करें?