कानपुर, फतेहपुर, अमेठी और प्रतापगढ़ जिलों में पहुंची जांच टीमें

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: खुल्दाबाद स्थित राजकीय किशोर संप्रेक्षण गृह से फरार किशोरों की तलाश में पुलिस की कई टीमें जुटी हैं. फरार किशोरों की तलाश में एसएसपी नितिन तिवारी ने कुल तीन टीमें तैयार की हैं. इन टीमों को कानपुर, फतेहपुर, अमेठी और प्रतापगढ़ जिले में भेजा गया है. खुल्दाबाद स्थित राजकीय किशोर संप्रेक्षण गृह से भागने वाले किशोर इलाहाबाद के अलावा इन्हीं जिलों के रहने वाले हैं. उन्हें अलग-अलग मुकदमे में गिरफ्तार कर यहां लाया गया था. किशोरों के भागने से पुलिस और विभागीय अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस के साथ ही किशोरों को शीघ्र पकड़ने के लिए जीआरपी की मदद भी ली जा रही है. जीआरपी किशोरों की फोटो के आधार पर उनकी तलाश कर रही है.

ड्यूटी से नदारद थे जिम्मेदार

खुल्दाबाद स्थित संप्रेक्षण गृह से किशोरों के फरार होने के बाद शुरू हुई जांच में कई बाते सामने आयी, जो हैरान करने वाली थी. किशोरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी जिन पर थी, उनमें से एक सिपाही व होमगार्ड ड्यूटी से ही नदारद मिले. इसके बाद यह बात साफ हो गई कि पुलिस, होमगार्ड और विभागीय कर्मचारियों की लापरवाही के चलते ही किशोर संप्रेक्षण गृह से भागने में सफल हो सके. लापरवाही के कारण ही किशोरों को संप्रेक्षण गृह की खिड़की काटने में सफलता मिली. इसकी भनक तक अधिकारियों व कर्मचारियों को नहीं हो सकी. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, संप्रेक्षण गृह में होमगार्ड विनोद शुक्ला व सिपाही अनूप की ड्यूटी थी, लेकिन दोनों ही गायब थे. दूसरे कर्मचारी भी सुरक्षा में लापरवाही बरत रहे थे. पुलिस की जांच में यह भी सामने आया है कि संप्रेक्षण गृह की खिड़की में लगी लोहे की रॉड पर जंग लगा था, जिस कारण उसे आसानी से मोड़ा जा सका. मैनुअल के हिसाब से इनकी चेकिंग भी लगातार होनी चाहिए थी, लेकिन इस तरफ ध्यान नहीं दिया गया. फिलहाल पुलिस का अब सारा जोर फरार किशोरों की गिरफ्तारी को लेकर है. सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है. एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव का कहना है भागने वाले एक किशोर को रामबाग से पकड़ लिया गया है. जबकि अन्य के परिजनों से पूछताछ की जा रही है. जल्द ही सभी को पकड़ लिया जाएगा.

किशोरों ने अटेंडेंट को पीटा

किशोर संप्रेक्षण गृह के कुछ किशोरों ने गुरुवार सुबह अटेंडेंट को भी पीट दिया. इससे पहले सात किशोर यहां से भागे थे. कहा जा रहा है कि अटेंडेंट जब फरार होने वाले किशोरों के बारे में पूछताछ कर रहे थे, तभी उनके साथ मारपीट की गई. एसएसपी नितिन तिवारी ने बताया कि इस संबंध में मुकदमा दर्ज कराने को कहा गया है. हालांकि इंस्पेक्टर खुल्दाबाद रौशन लाल ने अधीक्षक से कई बार शिकायत देने के लिए कहा, लेकिन रात तक उन्होंने नहीं दी. तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी.