--BEO ने किया परिषदीय विद्यालयों का निरीक्षण

-खुली पोल, बिना सूचना गायब मिले कई टीचर्स, कार्रवाई की संस्तुति

VARANASI

प्रदेश में नयी सरकार की हनक देखने को मिलनी शुरू हो गई है. अधिकारी ऑफिसेज से बाहर निकल कर निरीक्षण करना शुरू कर दिए हैं. इस क्रम में आराजीलाइन ब्लॉक के खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) स्कंद गुप्त ने सोमवार को ब्लॉक के कई परिषदीय स्कूलों का निरीक्षण किया. इस दौरान विभिन्न प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक स्कूलों में बगैर सूचना के गायब मिले छह शिक्षकों व एक प्रेरक का एक दिन का वेतन काटने की संस्तुति की है.

निरीक्षण के दौरान हरदत्तपुर प्राथमिक विद्यालय में तीन शिक्षिका बगैर सूचना के गायब रहने के कारण उन्होंने अध्यापिका फरजाना, तृप्ता मिश्रा, डेजी रानी का एक दिन का वेतन काटने की संस्तुति की है. इससे पहले इसी विद्यालय में बगैर सूचना के गायब रहने के कारण प्रधानाध्यापिका को निलंबित किया जा चुका है. बावजूद अध्यापकों में कोई सुधार नहीं हो रहा है. इस क्रम में दरेखूं प्राथमिक विद्यालय बंद मिलने के कारण प्रधानाध्यापिका रीता यादव के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के साथ वेतन रोकने की संस्तुति की. इसी प्रकार पूर्व माध्यमिक विद्यालय व प्राथमिक विद्यालय मोहनसराय का निरीक्षण हुआ.

गंदगी देख बिफरे

प्राथमिक विद्यालय में दो व पूर्व माध्यमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका के साथ दो शिक्षिका व एक प्रेरक अनुपस्थित रहीं जिनका एक दिन का वेतन रोकने की कार्रवाई हुई. वहीं महगांव प्राथमिक विद्यालय व पूर्व माध्यमिक विद्यालय में गंदगी देख नाराजगी जाहिर की. जयापुर में प्रधानाध्यापिका को विद्यालय में चाहरदीवारी के निर्माण हेतु ग्राम प्रधान को सूचना देने का निर्देश दिया. निरीक्षण के दौरान उन्होंने सभी विद्यालय में मिड-डे मील, शिक्षा गुणवत्ता व पुरानी किताबों को व्यवस्थित कर वितरण करने व शिक्षण कार्य सत्र के अनुसार अनुपालन करने के लिए का निर्देश दिया गया.