24 घंटे में 34 हजार महिलाओं ने की मुफ्त में यात्रा

Meerut. रक्षाबंधन पर महिलाओं को फ्री में यात्रा कराने की योजना भले ही अव्यवस्था की भेंट चढ़ गई हो लेकिन रोडवेज ने 24 घंटे में 34 हजार से अधिक महिलाओं को मुफ्त यात्रा का लाभ दिया. हालांकि इसके लिए रोडवेज को करीब 20 लाख रुपये का अस्थाई घाटा झेलना पड़ा. इतना ही नहीं शहर के पांचों डिपो में भैंसाली डिपो ने महिलाओं को मुफ्त यात्रा कराने में बाजी मार ली.

फैक्ट्स

25 अगस्त की रात 12 बजे से 26 अगस्त रात 12 बजे तक रही मुफ्त सेवा

34757 महिलाओं ने की पांचो डिपो की बसों में नि:शुल्क यात्रा

19,54,526 लाख रुपये अनुमानित राशि का रोडवेज को नुकसान

17415 महिलाओं ने भैंसाली डिपो से किया सफर

6088 महिलाओं ने बड़ौत डिपो से किया सफर

5332 महिालओं को सोहराबगेट डिपो ने कराया सफर

2986 महिलाओं ने गढ़ डिपो से गढ़ डिपो से किया सफर

2936 महिलाओं ने मेरठ डिपो से किया सफर

7,39,101 लाख रुपये का भैंसाली डिपो को हुआ अस्थाई नुकसान

178 बसों की सोमवार तक वापसी ना होने पर नहीं जुड़ सकी आय

पिछले साल की अपेक्षा इस साल काफी अधिक संख्या में महिलाओं ने बसों में फ्री सफर किया है. हालांकि कुछ अव्यवस्थाएं रही लेकिन योजना को लागू करने में विभाग पूरी तरह सफल रहा.

नीरज सक्सेना, आरएम रोडवेज

आरएम से मिले पूर्व मंत्री बाजपेयी

सोहराबगेट बस डिपो पर अव्यवस्थाओं के मामले में सोमवार को पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत बाजपेयी आरएम कार्यालय पहुंचे. यहां उन्होंने आरएम से मुलाकात कर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए मामले में एक्शन लेने की बात कही. इस दौरान ने एमडी रोडवेज से फोन पर बात करते हुए मेरठ की स्थिति से अवगत कराया. साथ ही महिलाओं को मुफ्त यात्रा का लाभ मिलने में हुई परेशानी पर नाराजगी जताते हुए तुरंत सख्त एक्शन लेने को कहा.