बीएचयू में चल रहे वर्कशॉप में प्रशिक्षक ने आत्मरक्षा की बारीकियों का किया प्रदर्शन भी

varanasi@inext.co.in

VARANASI

लिंग संवेदीकरण और आत्मरक्षा विषयक पांच दिवसीय वर्कशॉप के चौथे दिन पहले सत्र का आयोजन बीएचयू कला संकाय के प्रेक्षागृह में हुआ. डीन प्रो. यूसी दूबे ने स्टूडेंट्स को मानवीय मूल्यों के विकसित करने की सलाह दी. बतौर चीफ गेस्ट प्रो. रोयाना सिंह ने अपने अनुभवों के आधार पर लिंग आधारित असमान समाज के व्यवहार से होने वाली दिक्कतों का जिक्र करते हुए उसे व्यक्तित्व के विकास की बाधा के रूप में व्याख्यायित किया. छात्र सलाहकार प्रो. रंजीत सिंह ने गेस्ट्स का स्वागत किया. इसके बाद सायशा वेलफेयर फाउंडेशन की अध्यक्ष रेनू गुप्ता ने आत्मरक्षा के महत्व पर प्रकाश डाला. फाउंडेशन की समन्वयक दीपिका शर्मा के नेतृत्व में प्रशिक्षक राजवीर और मीनाक्षी ने आत्मरक्षा की बारीकियों का प्रदर्शन किया. साथ ही छात्र-छात्राओं से आत्मरक्षात्मक तरीकों का अभ्यास कराया. संचालन प्रो श्रद्धा सिंह ने तथा धन्यवाद प्रो. चम्पा कुमारी सिंह ने दिया.