- राष्ट्रीय मुख कैंसर दिवस पर डेंटल साइंस फैकल्टी बीएचयू में कार्यक्रम का किया गया आयोजन

varanasi@inext.co.in

VARANASI

राष्ट्रीय मुख कैंसर दिवस के मौके पर गुरुवार को दंत संकाय में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इसमें इंडियन डेंटल एसोसिएशन के प्रेसिडेंट प्रो. टीपी चतुर्वेदी ने कहा कि छह वर्षो में मुख कैंसर के रोगियों की संख्या में 114 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. मुख कैंसर के कारक तंबाकू, धूम्रपान, गुटखा, पान, शराब तथा ह््यूमेन पेपीलोमा वायरस हैं. बताया कि भोजन करते समय या थूक घोटने में दर्द का महसूस होना तथा आवाज में बदलाव का आना या मुंह में सात दिनों से ज्यादा घाव का रहना इसके मुख्य लक्षण हो सकते हैं. मुख कैंसर का इलाज कैसे करें ये उसकी स्टेज, स्थान और कैंसर के प्रकार पर निर्भर पर करता है. इस मौके पर डॉ. आलोक सिंह, प्रो. अतुल भटनागर, डा. आदित्य श्रीवास्तव, डा. प्रवीण, डा. कनुप्रिया, डा. श्रिया ने भी तंबाकू के दुष्प्रभाव पर चर्चा की.

बॉक्स

टेढ़े-मेढ़ मुंह का हो सकता है इलाज

फ्रैक्चर जबड़े हो या टेढ़े-मेढ़ मुंह. उनको मैक्सिलोफेसियल सर्जरी के माध्यम से सही किया जा सकता है. इसको टीएम ज्वाइंट सर्जरी भी कहा जाता है. उक्त बातें बीएचयू के दंत चिकित्सा विज्ञान संकाय के पूर्व संकाय प्रमुख प्रो. नरेश शर्मा, डॉ. नीरज धीमान, डॉ. चंद्रेश जैसवारा, डॉ. अखिलेश सिंह ने गुरुवार को मीडिया सेंटर में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान दी. प्रो. शर्मा ने बताया कि भारतीय ओरल एवं मैक्सिलोफेसियल सर्जरी संगठन के 50वीं वर्षगांठ पर केएन उडप्पा सभागार में अधिवेशन का आयोजन होगा. इसमें उत्तर प्रदेश व बिहार के 200 विशेषज्ञ भाग लेंगे. अधिवेशन शुरू होने से पहले सुबह छह बजे मैराथन दौड़ का आयोजन होगा. चेन्नई के प्रो. आरएस नीलकंदन टीएम ज्वाइंट प्रत्यारोपण, बेंगलुरु के प्रो. प्रीतम शेट्ठी कटे होंठ एवं तालू के उपचार के बारे में जानकारी देंगे. कार्यक्रम के चीफ गेस्ट वीसी प्रो. राकेश भटनागर, आईएमएस निदेशक प्रो. वीके शुक्ला व केजीएमयू के प्रो. शादाब मोहम्मद होंगे.