-आईआईटी बीएचयू के शताब्दी समारोह में ज्ञान से विज्ञान को जोड़कर कुछ बेहतर देने का किया सीएम ने किया आह्वान

-50 मिनट के संबोधन में महामना और महात्मा गांधी के साथ जोड़ा पीएम नरेन्द्र मोदी को

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने आईआईटी बीएचयू के शताब्दी समारोह में युवा इंजीनियर्स से 'नये भारत' के निर्माण में सक्रिय भागीदारी करने का आह्वान किया. कहा कि हमारे पुरातन ज्ञान को विज्ञान से जोड़कर समाज को बेहतर दिशा में काम करने की जरूरत है. स्वतंत्रता भवन में आयोजित समारोह में बतौर मुख्य अतिथि उन्होंने कहा कि महामना की दूर दृष्टि का मूर्त रूप आईआईटी, बीएचयू है. रिसर्च को समाज तक पहुंचाकर ही हम महामना की मंशा के अनुरूप खुद को साबित कर सकेंगे. कहा कि टेक्नोलॉजी के प्रयोग से भ्रष्टाचार पर लगाम लगायी जा सकती है. बताया कि 15 फरवरी को पीएम मोदी डिफेंस कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. इसका नॉलेज पार्टनर आईआईटी, बीएचयू व कानपुर भी है.

50 मिनट धाराप्रवाह बोले

सीएम योगी आदित्यनाथ लगभग 50 मिनट बिना रुके बोले. महामना को याद करते हुए कहा विशिष्ट के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करना सनातन धर्म का लक्षण है. पीएम नरेन्द्र मोदी ने इस धर्म का पालन महामना पंडित मदन मोहन मालवीय को भारत रत्‍‌न का सम्मान देकर किया. यह धर्म का निर्वहन है. बीएचयू के स्थापना के समय महात्मा गांधी के काशी विश्वनाथ मंदिर के दर्शन करने की घटना को वर्तमान में चल रहे विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर से जोड़ा. कहा कि उस वक्त बापू ने मंदिर की संकरी गलियों को लेकर चिंता जतायी थी. पर किसी भी सरकार ने उनकी इस चिंता पर ध्यान नहीं दिया. 1916 के बाद 2016 में अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर 100 साल बाद गांधी जी की बातों पर ध्यान दिया. अब काशी विश्वनाथ मंदिर परिक्षेत्र में कॉरिडोर बनाया जा रहा है. इससे मंदिर में जाने का रास्ता काफी चौड़ा हो जाएगा.

बॉक्स

गोवंश के लिए तैयार करें टेक्नोलॉजी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इंजीनियर्स से गोवंश के संरक्षण के लिए टेक्नोलॉजी विकसित करने की अपील की. कहा कि अवैध स्लाटर हाउस बंद होने से लोग गोवंश को सड़क पर छोड़ दे रहे हैं. हमने उनके संरक्षण के लिए गांवों में व्यवस्था तैयार करने की पहल की है. इंजीनियर्स को कुछ ऐसी तकनीक विकसित करने की जरूरत है जिससे कि हम गोवंश के गोबर और गोमूत्र से ईधन तैयार कर सकें और सिलेंडर की रिफीलिंग की व्यवस्था इसी गोबर गैस से की जा सके.

बॉक्स

सीएम से मांगी जमीन

आईआईटी के डायरेक्टर प्रो. पीके जैन ने राष्ट्र निर्माण में आईआईटी बीएचयू के योगदान पर चर्चा की. कहा कि रिसर्च, इनोवेशन और बेहतर स्टार्टअप के लिए उपयुक्त मंच प्रदान करना आईआईटी बीएचयू की प्राथमिकताएं हैं. कहा कि आईआईटी बीएचयू प्रदेश के डिफेंस कॉरीडोर में नॉलेज पार्टनर है. संचार मंत्रालय के साथ एमओयू और एमेजान एशिया समेत कई और संस्थाओं के साथ आईआईटी के समझौतों के बारे में बताया. उन्होंने सीएम योगी से वास्तु-विद्या विभाग, मालवीय रक्षा अनुसंधान केंद्र व सेंटेनरी इनोवेशन पार्क के बारे चर्चा करते हुए स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने के लिए नोएडा में भूमि की मांग की.

'सोवेनियर' का सीएम ने किया विमोचन

कार्यक्रम के दौरान शताब्दी समारोह से जुड़ी पुस्तिका 'सोवेनियर' का मुख्यमंत्री ने विमोचन किया. धन्यवाद ज्ञापन रिसोर्स एण्ड एलुमनाई डीन प्रो. अनिल कुमार त्रिपाठी ने किया. इस मौके पर ग्लोबल एलुमनाई मीट के चेयरमैन नितिन अग्रवाल, गुजरात विस के पूर्व विधायक सुनील भाई ओझा, रजिस्ट्रार डॉ. एसपी माथुर, प्रो. राजीव प्रकाश, प्रो. रॉयना सिंह, प्रो. प्रभाकर सिंह, प्रो. पीके मिश्र, प्रो. प्रदीप श्रीवास्तव आदि मौजूद थे.