रेलवे की जमीन पर बिना नक्शा बने सार्वजनिक शौचालय पर डीआरएम ने जताई नाराजगी

सालभर बाद भी मुख्यालय से कनेक्ट नहीं हो सके सीसीटीवी

MEERUT। सिटी स्टेशन पर व्यवस्थाओं को परखने के लिए शनिवार को डीआरएम सुखमल चंद जैन पहुंचे। उन्होंने खामियों पर नाराजगी जाहिर करते हुए स्टेशन अधीक्षक समेत स्टॉफ की जमकर फटकार लगाई। डीआरएम ने स्टेशन परिसर में तीन माह पहले बने एसी पिंक और ब्लू सार्वजनिक शौचालय के मानकों पर भी सवाल उठा दिए। इस शौचालय के नक्शे और अनुमति तक का स्टेशन पर रिकार्ड तक नही मिला। वहीं, सिटी स्टेशन पर सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था भी अभी तक मुख्यालय से कनेक्ट नही हो पाई। जिस पर भी डीआरएम ने नाराजगी जताई।

शौचालय पर सवाल

डीआरएम ने अपनी टीम के साथ रेलवे परिसर के बाहर निरीक्षण करते हुए 11 मार्च को बने पिंक ब्लू सार्वजनिक शौचालय की अनुमति और नक्शे पर सवाल उठा दिए। डीआरएम ने स्टेशन अधीक्षक आरपी शर्मा से पूछा कि यह शौचायल किसकी अनुमति से बना और नक्शा किसने स्वीकृत किया तो इस पर स्टेशन अधीक्षक चुप्पी साध गए।

रिकार्ड नही मिला अपडेट

इस दौरान उन्होंने तांगा स्टैंड के बारे में जानकारी ली तो प्रभारी अरविंद कुमार तांगों की सही संख्या और किराया वसूली की भी सही जानकारी नहीं दे सके। स्टेशन अधीक्षक ने बताया कि इस स्टैंड को बंद करने के लिए मुख्यालय को पत्र लिया जा चुका है। इसकी जगह पार्किंग एरिया को बढ़ाया जाएगा।

हैंडओवर नही सीसीटीवी

स्टेशन परिसर व यात्रियों की सुरक्षा के लिए स्टेशन में लगे सीसीटीवी कैमरों को एक साल बाद भी मुख्यालय से कनेक्ट नही किया गया। इन कैमरों के कनेक्ट होने से मुख्यालय से भी स्टेशन की निगरानी हो सकेगी लेकिन एक साल बाद भी कैमरों की मॉनिटरिंग संबंधित कंपनी को हैंडओवर न होने पर डीआरएम ने संबंधित प्रभारी व स्टाफ को जमकर फटकार लगाई और देर रात तक पूरी रिपोर्ट तैयार करने का आदेश दिया।

ये रहे निरीक्षण के मुख्य बिंदू

आरक्षण कार्यालय में जल्द स्पीकर व्यवस्था और कूलर व्यवस्था का दिया आश्वासन

प्लेटफार्म नंबर एक पर वेटिंग रुम को महिला व अपर क्लॉस वेटिंग रुम बनाने की योजना

खाली वेटिंग रुम में पंखे चलते देख जताई नाराजगी

परिसर में जगह जगह गंदगी व बदबू पर स्टेशन अधीक्षक ने साधी चुप्पी

पार्सल विभाग की कम आय को बढ़ाने के दिए निर्देश

जल्द लगेगा स्टेशन पर डिस्पले बोर्ड