- सेकेंड स्टेट टॉपर बनी बेगूसराय की भव्या कुमारी

- सैकड़ों विद्यार्थियों को मिले चार सौ से अधिक अंक

PATNA / BEGUSARAI : बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा गुरुवार को जारी मैट्रिक के रिजल्ट में भी सूबे की सेकेंड स्टेट टॉपर का खिताब बेगूसराय की झोली में रहा. इंटर में भी सेकेंड स्टेट टॉपर बेगूसराय के ही थे. इसके साथ ही सैकड़ों विद्यार्थियों ने चार सौ से अधिक अंक प्राप्त कर एक बार फिर जिले की प्रतिभा का प्रमाण पेश किया है. शहजानंद नगर मूल निवासी मटिहानी प्रखंड के चाक गांव निवासी रामप्रकाश सिंह और मध्य विद्यालय विष्णुपुर की शिक्षिका रेणुका सिन्हा की पुत्री भव्या कुमारी ने सूबे में दूसरा स्थान प्राप्त किया है. वह सिमुलतला आवासीय विद्यालय की छात्रा है. उनकी इस उपलब्धि पर उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है.

डॉक्टर बन मानव सेवा करना चाहती हैं भव्या

सूबे में द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली भव्या का सपना है कि वह सर्वप्रथम इंटर के साथ मेडिकल की तैयारी करेगी. वह कहती है कि उन्हें समाज की सेवा करने का शौक है. इसलिए सच्से अच्छा उन्हें किसी दुखियारे की मदद करने में मजा आएगा. भव्या कहती हैं कि उनका सपना डॉक्टर बनने का है. पिता जी एसडीओ हैं और माता जी शिक्षिका हैं. जबकि दादा जी आर्मी में थे. इसके अलावा दोनों भाई और बड़ी बहन यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं. वह इन सबसे अलग डॉक्टर बनने च्ी इच्छा रखती हैं. भाव्या कहती हैं कि उसने किसी कान्वेंट में पढ़ाई नहीं की, फिर भी वह हमेशा अपने वर्ग में अव्वल रहीं. भव्या ने प्राथमिक विद्यालय सर्वोदय नगर से अपनी शिक्षा शुरू की थी और छठी से सिमुलतला आवासीय विद्यालय में पढ़ रही हैं. वे कहती हैं कि घर में माता जी ने बचपन में जो पढ़ाया था वह आज उसे पल-पल काम दे रहा है. अपनी सफलता का श्रेय वह सिमुलतला के शिक्षकों और माता-पिता को देती हैं.

म्7फ्ब्फ् परीक्षार्थियों ने दी थी मैट्रिक की परीक्षा

एक मार्च ख्0क्7 से आरंभ हुई मैट्रिक परीक्षा में इस वर्ष बेगूसराय के म्7 हजार तीन सौ ब्फ् परीक्षार्थियों ने ब्ख् केंद्रों पर परीक्षा दी थी. इसमें फ्भ् हजार फ्8म् लड़कियां तथा फ्क् हजार 9भ्7 लड़के शामिल थे. गुरुवार को जारी मैट्रिक रिजल्ट में इस बार बेगूसराय का प्रदर्शन उम्मीद से परे है. विद्यार्थियों की एक बड़ी तादाद परीक्षा में फेल कर गए हैं. जिला के कुछ विद्यालयों का रिजल्ट जहां चफी अच्छा रहा तो वहीं, कुछ विद्यालयों का प्रदर्शन काफी खराब रहा. विभिन्न सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार शहर के कुछ चु¨नदा स्कूल जिनके कभी बहुत नाम हुआ करते थे, इस बार उन विद्यालयों का रिजल्ट काफी खराब रहा है. जबकि कुछ नव माध्यमिक विद्यालयच्ें ने अच्छा प्रदर्शन किया है.