-शिक्षक दिवस पर बोले डिप्टी सीएम, यूपी-महाराष्ट्र की तरह प्राइवेट स्कूलों पर बिल लाएगी सरकार

श्चड्डह्लठ्ठड्ड@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

क्कन्ञ्जहृन् : सूबे में अब फीस वसूली को लेकर प्राइवेट स्कूलों की मनमानी नहीं चलेगी. फीस वसूली पर कंट्रोल के लिए सरकार जल्द कानून लाएगी. उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र जैसे राज्यों की तर्ज पर बिहार में इस कानून को प्रभावी बनाया जाएगा. यह घोषणा बुधवार को डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने शिक्षक दिवस पर आयोजित राजकीय समारोह में की. उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान करने वाले 17 शिक्षकों को सम्मानित किया. मोदी ने कहा कि राज्य सरकार बजट का सर्वाधिक हिस्सा शिक्षा पर खर्च कर रही है. 2017-18 में शिक्षा के लिए सरकार ने 24,698 करोड़ रुपए बजट निर्धारित किया. जिसे वर्ष 2018-19 में बढ़ाकर 34,333 करोड़ कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि प्राइवेट स्कूल पैरेंट्स से मनमानी फीस वसूल रहे हैं. जिसपर नियंत्रण के लिए सरकार जल्द कानून बनाएगी. विधानमंडल में प्राइवेट स्कूल फीस रेगुलेशन बिल पारित किया जाएगा.

खोले जाएंगे 13 नए डिग्री कॉलेज

उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश में 13 नए डिग्री कॉलेज भी खोलने जा रही है. कुछ स्थान जैसे राजगीर, नालंदा, पकड़ी दयाल, वायसी, बेनीपुर में इन कॉलेजों के लिए भवन निर्माण का काम पूरा किया जा चुका है. उन्होंने कहा, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा लेकर राज्य के युवा और बेटियां बेहतर भविष्य बना सकें इसके लिए सरकार हर प्रकार की मदद देगी. समारोह को शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा ने भी संबोधित किया.