-गवर्नर ने की मीटिंग, डिवाइस पर रहेगी रोक, प्रदेश में बनाए गए 122 सेंटर

क्कन्ञ्जहृन्: बिहार में पहली बार बीएड कंबाइंड इंट्रेंस टेस्ट (बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा) का आयोजन 15 जुलाई को किया जा रहा है. इसमें प्रदेश में 90350 परीक्षार्थी शामिल होंगे. परीक्षा की तैयारियां पूरी की जा चुकी है. इसके लिए प्रदेश भर में कुल 122 केंद्र बनाए गए हैं. इनमें पटना में सर्वाधिक 56 केंद्र बनाए गए हैं. गवर्नर सत्यपाल मलिक ने शुक्रवार को परीक्षा आयोजक नालंदा यूनिवर्सिटी के वीसी की मौजूदगी में पटना, दरंभगा, पूर्णिया, कोसी, मुंगेर और भागलपुर के प्रमंडलीय आयुक्तों के साथ बैठक की. जिसमें राज्यपाल के प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह भी शामिल हुए. गवर्नर ने कहा प्रदेश में पहली बार बीएड के लिए कंबाइंड टेस्ट हो रहे हैं. परीक्षा को हर हाल में स्वच्छ, शांतिपूर्ण और निष्पक्ष तरीके से संपन्न कराना है. इसकी सामूहिक जवाबदेही विश्वविद्यालय प्रशासन, जिला प्रशासन और सभी संबंधित अफसरों की होगी.

कड़ी निगरानी में होगी परीक्षा

गवर्नर ने कहा कि, पारदर्शी प्रक्रिया और कदाचार मुक्तपरीक्षा से ही भविष्य में बेहतर शिक्षक प्राप्त होंगे. विवेक कुमार ने कहा कि राज्यपाल सचिवालय के पदाधिकारी भी परीक्षा में विशेष प्रेक्षक के रूप में भेजे जा रहे हैं. यह अधिकारी परीक्षा संचालन की मॉनिट¨रग करेंगे. प्रमंडलीय आयुक्तजिलों में स्थापित परीक्षा केंद्रों पर समय सीमा में परीक्षा सामग्रियों के पहुंचने की व्यवस्था के साथ ही मोबाइल सहित सभी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस के प्रयोग पर रोक, वीक्षकों के परीक्षा संबंधी मार्ग दर्शन, धारा 144 लागू करने आदि की व्यवस्था करेंगे. प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर विवि के एक शिक्षक प्रेक्षक के रूप में तैनात रहेंगे. जिला प्रशासन भी एक दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति करेगा. बैठक में नालंदा खुला विवि के कुलपति आरके सिन्हा ने प्रजेंटेशन के जरिए परीक्षा की संपूर्ण व्यवस्था से प्रमंलीय आयुक्तों को अवगत कराया.