RANCHI: रिम्स की बायोकेमेस्ट्री मशीन एकबार फिर खराब हो गई है. इससे महीने भर में दूसरी बार मरीजों का बायोकेमेस्ट्री टेस्ट बंद कर दिया गया है. अब मरीजों को बायोकेमेस्ट्री का टेस्ट कराने के लिए तीन से चार गुना पैसे खर्च करने पड़ रहे हैं. रिम्स में जहां लिपिड प्रोफाइल टेस्ट के लिए 200 रुपए चुकाने होते हैं, इसके लिए बाहर 500 रुपए लिए जा रहे हैं. वहीं एलएफटी का चार्ज रिम्स में 45 रुपए है तो प्राइवेट में 500 लग रहे हैं. इसके अलावा एसजीपीटी, एसजीओटी, अल्क्लाइन फास्फेट, कोलेस्ट्रॉल, टोटल प्रोटीन, एल्बुमिन, एमाइलेज, टोटल बिलरुबिन जैसे जरूरी टेस्ट भी नहीं हो पा रहे हैं.

सीबीसी टेस्ट का 20 गुना अधिक चार्ज

बायोकेमेस्ट्री जांच बंद हो जाने से मरीजों की जेब पर खर्च बढ़ गया है. वहीं 20 रुपए की सीबीसी जांच भी कुछ दिनों से बंद हो गई है. इसके लिए प्राइवेट सेंटरों में 400 रुपए चार्ज लिया जा रहा है. रिम्स में मरीजों का जो टेस्ट फ्री में हो जाता है उसके लिए पैसे लगने से मरीजों की हालत काफी खराब हो गई है. इसके बावजूद रिम्स प्रबंधन को मरीजों की परेशानी से कोई फर्क नहीं पड़ रहा है.