lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: सभी कर्मचारी टैंक की लीकेज ठीक करने के लिए उस पर वेल्डिंग कर रहे थे तभी हादसा हुआ। हादसा इतना भीषण था कि आसपास के गांवों तक इसकी आवाज सुनी दी जबकि टैंक के गार्डर दूर तक जंगल में टुकड़ों में बिखर गए। घटना के विरोध में लोगों ने नगीना मार्ग पर जाम लगाकर हंगामा किया। गंभीर रूप से घायल तीन मजदूरों को जिला अस्पताल में एडमिट कराया गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए अफसरों को बचाव कार्य तेजी से करने के निर्देश दिए हैं। उधर।फैक्ट्री मालिक ने मृतकों के परिजनों को 12-12 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है।

हवा में उड़ गए कर्मचारी

मोहित पेट्रो केमिकल फैक्ट्री स्थित टैंक से बुधवार को बॉयो गैस (मीथेन) लीक होने लगी। जिसे रोकने के लिए कर्मचारी टैंक पर चढ़कर वेल्डिंग कर रहे थे। इसी दौरान अचानक टैंक में जबरदस्त धमाका हुआ और वेल्डिंग में जुटे सभी कर्मचारी टैंक की छत के साथ हवा में उड़ गए। धमाका होते ही फैक्ट्री में हड़कंप मच गया और वहां काम कर रहे मजदूर जान बचाकर भागने लगे। हादसे में गजरौला अचपल निवासी रवि।हादरपुर निवासी लोकेंद्र।अलावलपुर निवासी कमलवीर।भरैकी निवासी विक्रांत।भरैकी निवासी चेतराम और गधेली बोगावाला निवासी बालगोविंद की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि।देरशाम अभयराम की लाश टैंक से बरामद हुई। गंभीर रूप से घायल अलावलपुर निवासी गजेंद्र ङ्क्षसह।मौजीगोपालपुर निवासी प्रवेश को फैक्ट्री के कर्मचरियों ने जिला हॉस्पिटल में एडमिट कराया।

रोड पर लगा दिया जाम

हादसे की जानकारी मिलने पर मृतकों व घायलों के परिजन हॉस्पिटल पहुंचे। लेकिन।फैक्ट्री मालिक या कोई अधिकारी न पाकर वे भड़क उठे। नाराज लोगों ने बिजनौर-नगीना रोड पर जाम लगाकर हंगामा शुरू कर दिया। जानकारी मिलने पर डीएम अटल कुमार भी वहां पहुंचे और फैक्ट्री मालिक कुलदीप जैन को मौके पर बुलाया। लेकिन।न तो वे पहुंचे और न ही उन्होंने फैक्ट्री का कोई भी जिम्मेदार ही मौके पर भेजा। मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह नाराज लोगों को समझाबुझाकर शांत कराया। तब जाकर प्रदर्शन खत्म हो सका। आखिरकार जिला प्रशासन के अधिकारी मृतकों के परिजनों को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां पर अधिकारियों की मौजूदगी में फैक्ट्री के प्रतिनिधियों से मुआवजे को लेकर वार्ता हुई। वार्ता में फैक्ट्री प्रतिनिधि ने सभी मृतकों के परिजनों को 12-12 लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की। हादसे की जानकारी मिलने पर सांसद भारतेंद्र सिंह भी पहुंचे और परिजनों से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी।

प्रदेश के 150 भ्रष्ट अधिकारियों पर कसेगा शिकंजा

National News inextlive from India News Desk