- सभी डिपार्टमेंट में बायोमैट्रिक अटेंडेंस होगी अनिवार्य

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

एलयू में नए सेशन 2018-19 से बायोमैट्रिक अटेंडेंस अनिवार्य हो जाएगी. समाज कल्याण विभाग की ओर से यह नियम जारी किया गया है कि स्कॉलरशिप उन्हें ही मिलेगी, जिनकी 75 प्रतिशत अटेंडेंस होगी. फिलहाल यूनिवर्सिटी में अटेंडेंस रिकॉर्ड करने का कोई सिस्टम नहीं है. समाज कल्याण विभाग ने एलयू को बायोमैट्रिक अटेंडेंस लगाने के लिए पत्र भेजा है. ज्ञात हो कि कुछ दिनों पहले डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने सभी वीसी के साथ वीडियों कांफ्रेंसिंग से बैठक की थी. जिसमें यह व्यवस्था लागू करने की बात कही गई थी. जिसके बाद एलयू ने अगले सेशन से बायोमैट्रिक अटेंडेंस दर्ज करवाने की तैयारी शुरू कर दी है.

बजट की होगी व्यवस्था

एलयू रजिस्ट्रार प्रो. राज कुमार सिंह ने बताया कि पिछले साल हमारे यहां इनफ्रास्ट्रक्चर नहीं था इसलिए समाज कल्याण को इस साल से बायोमैट्रिक अटेंडेंस के लिए लिखा था. इसमें काफी पैसा लगेगा. बायोमैट्रिक मशीनों के साथ सभी डिपार्टमेंट में सिस्टम भी लगवाए जाएंगे. इन्हें इंटरनेट से कनेक्ट किया जाएगा. ताकि सभी डिपार्टमेंट की अटेंडेंस कहीं से भी देखी जा सके. इसके लिए बजट की व्यवस्था की जा रही है. समाज कल्याण उन्हीं को स्कॉलरशिप देगा जिनकी 75 प्रतिशत अटेंडेंस होगी.

खत्म होगा फर्जीवाड़ा

बायोमैट्रिक उपस्थिति से विभागों का फर्जीवाड़ा भी खत्म हो जाएगा. यूनिवर्सिटी में नियम है कि 75 प्रतिशत से कम अटेंडेंस वाले स्टूडेंट्स एग्जाम नहीं दे सकेंगे. इसके बाद भी ऐसे स्टूडेंट आराम से एग्जाम देते हैं. पिछले सेमेस्टर में मैनेजमेंट, इंजीनियरिंग और एआईएच विभाग ने पहल करते हुए ऐसे सभी स्टूडेंट्स को परीक्षा से बाहर कर दिया था. जबकि यूनिवर्सिटी में 41 विभाग अब भी ऐसे है जहां इस नियम का पालन होना बाकी है.