- फर्जी रजिस्ट्रेशन कराने वाले स्कूलों में बायोमैट्रिक्स अटेंडेंस अनिवार्य

- इन सभी स्कूलों में 20 प्रतिशत रजिस्ट्रेशन विभाग ने कम कर दिए

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

शिक्षा विभाग ने बोर्ड एग्जाम के दौरान स्थलीय निरीक्षण में सामने आए फर्जीवाड़े पर कार्रवाई की है. विभाग की ओर से राजधानी के करीब एक दर्जन स्कूलों में नौंवी और 11वीं में साल 2017 में रजिस्टर्ड हुए स्टूडेंट्स की कुल संख्या में 20 प्रतिशत कमी करने का आदेश दिया है.

पाई गई थीं कमियां

डीआईओएस ने अपने ऑर्डर में कहा है कि बोर्ड एग्जाम से पहले इन स्कूलों का स्थलीय निरीक्षण किया गया था. उस समय इन स्कूलों में पढ़ रहे स्टूडेंट्स के नामाकंन के सापेक्ष भौतिक उपस्थिति काफी कम पाई गई थी. वहीं बोर्ड परीक्षा के दौरान रजिस्टर्ड स्टूडेंट्स के डेट ऑफ बर्थ और आधार कार्ड पर अंकित डेट ऑफ बर्थ में अंतर पाया गया था. जिसके बाद इन स्कूलों पर कार्रवाई की संस्तुति की गई है. गौरतलब है कि अनियमितताओं के मिलने पर डीआईओएस ने इस पर कार्रवाई के लिए बोर्ड को संस्तुति की थी.

दो अप्रैल से शुरू हो रहा सेशन

डीआईओएस ने आदेश में कहा है कि इन स्कूलों को दो अप्रैल से शुरू हो रहे नए सेशन में हर स्टूडेंट्स का उपस्थिति का रिकार्ड रखना होगा. इसके लिए स्कूलों को बायोमैट्रिक्स मशीन पर अटेंडेंस दर्ज करनी होगी. यह प्रक्रिया शिक्षकों और कर्मचारियों पर भी लागू होगी. इसके अलावा उपस्थिति रजिस्टर पर भी दर्ज होगी. विभाग समय-समय पर इन स्कूलों में बायोमैट्रिक्स और रजिस्टर का मिलान कर जांच करेगा.

बाक्स

इन स्कूलों पर हुआ एक्शन

1. गोड़वा बरौकी इंटर कॉलेज, माल

2. महेश सिंह सरस्वती इंटर कॉलेज, माल

3. जय चंद्रिका इंटर कॉलेज, माल

4. चंद्रशेखर आजाद इंटर कॉलेज, माल

5. एसपी सिंह हायर सेकेंडरी स्कूल, माल

6. महात्मा मेमोरियल इंटर कॉलेज, माल

7. नन्हें सिंह स्मारक इंटर कॉलेज, माल

8. ब्राइट कैरियर शिक्षण संस्थान इंटर कॉलेज, ठाकुरगंज

9. एस पब्लिक स्कूल, माल

10. सेंटीनियल इंटर कॉलेज, कैसरबाग

11. डॉ. वीरेंद्र प्रताप पब्लिक इंटर कॉलेज, कुर्सी रोड

12. पंचशील इंटर कॉलेज, नगराम

13. राजकीय बालिका इंटर कॉलेज, मलिहाबाद