कानपुर। दुनिया को बास्केटबॉल देने वाले महान व्यक्ति जेम्‍स नाइस्मिथ का जन्म आज ही के दिन यानी कि 6 नवंबर को 1861 में हुआ था। ब्रिटेनिका के मुताबिक, जेम्‍स कनाडा में ओंटारियो के अलमोन्टे में जन्मे थे। उन्होंने 1891 में सिर्फ 30 साल की उम्र में बास्केटबॉल खेल का आविष्कार किया था। उन्होंने बास्केटबॉल नियम पुस्तिका लिखी और यूनिवर्सिटी ऑफ कान्सास में बास्केटबॉल कार्यक्रम की स्थापना की थी। कहा जाता है कि बास्केटबॉल को ओलंपिक तक पहुंचाने के लिए नाइस्मिथ ने काफी मेहनत की थी क्योंकि ये उनका आखिरी सपना था।

सर्दियों में बच्चों को आउटडोर खेलों से निजात दिलाने के लिए अविष्कार

1891 में, नाइस्मिथ को स्प्रिंगफील्ड वाईएमसीए में बतौर जूनियर हेड ऑफ फिजिकल एजुकेशन डिपार्टमेंट (व्यायाम विभाग) के तौर पर नियुक्त किया गया था। वहां पढ़ाने के दौरान जेम्स नाइस्मिथ ने सर्दी के दिनों में व्यायाम और खतरनाक खेलों से बच्चों को निजात दिलाने के लिए उन्हें इंडोर गेम्स खेलने के लिए प्रेरित किया था और यहीं से बास्केटबॉल के अविष्कार की शुरआत हुई। फुटबॉल, अमेरिकी फुटबॉल, फील्ड हॉकी और अन्य आउटडोर खेलों की विशेषताओं को मिलाकर नाइस्मिथ ने 1891 में बास्केटबॉल नाम के इंडोर खेल का अविष्कार किया। यह खेल बच्चों समेत सभी लोगों को पसंद आई। कहा जाता है कि जेम्स नाइस्मिथ ने बॉस्केटबॉल के मुख्य 13 वास्तविक नियम खुद लिखे थे। 1904 ओलंपिक में पहली बार बास्केटबॉल को खेल के रूप में लोगों के बीच दिखाया गया था और 1936 में बर्लिन ओलंपिक में इसे अधिकारिक तौर पर शामिल किया गया था।

शिक्षक के साथ डॉक्टर भी थे नाइस्मिथ
जेम्स नाइसिथ, बास्केटबॉल के निर्माता होने के साथ कनाडाई-अमेरिकी फिजिकल शिक्षक, चिकित्सक, चैपलैन, खेल कोच और इंनोवेटर भी थे। 28 नवंबर, 1939 को 78 साल की उम्र में अमेरिकी शहर कंसास के लॉरेंस में नाइस्मिथ का निधन हो गया था।

International News inextlive from World News Desk