निरीक्षण में स्टेशन की सफाई व्यवस्था में मिला खामियों का अंबार

सुबह से लेकर शाम तक स्टेशन पर अधिकारियों का रहा डेरा

Meerut. राज्य रेल मंत्री की मेरठ में उपस्थिति पर रेलवे मुख्यालय भी अलर्ट हो गया. जिसके तहत दिल्ली डिविजन ने एडीआरएम (प्रशासन) को मेरठ के सिटी स्टेशन और कैंट स्टेशन के निरीक्षण के लिए भेज दिया. एडीआरएम विकास परिहार ने सिटी और कैंट स्टेशन का निरीक्षण कर कैंट स्टेशन पर मिली गंदगी और अव्यवस्थाओं पर नाराजगी जताते हुए अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई.

सफाई व्यवस्था रही प्रमुखता

सुबह करीब 11 बजे एडीआरएम दिल्ली से निरीक्षण ट्रेन से सीधे कैंट स्टेशन पहुंचे और लगभग दो घंटे तक कैंट स्टेशन की सफाई व्यवस्थाओं का बारीकी से निरीक्षण किया. इस दौरान रेलवे एंट्री गेट से लेकर रेलवे प्लेटफार्म, शौचालय, स्टोर रूम, वेटिंग रुम, टिकट काउंटर सभी का निरीक्षण किया गया.

मिला कूडे का ढेर

निरीक्षण के दौरान कैंट स्टेशन के मुख्य गेट के बाहर लगे कूड़े के ढ़ेर को देखकर एडीआरएम ने नाराजगी जताते हुए स्टेशन अधीक्षक से जवाब तलब करते हुए तुरंत सफाई का आदेश दिया. उन्होंने कहा कि स्टेशन के मुख्य गेट पर ही अगर ऐसे हालात होंगे तो क्या असर पड़ेगा. इसके बाद वह आरक्षण खिड़की का निरीक्षण किया गया यहां ऊपर से जा रहे बिजली के तारों को देखकर भी अधिकारियों से जवाब तलब किया. निरीक्षण में मंडल वाणिज्य प्रबंधक, आरपीएफ कमांडेंट, मंडल चिकित्सा अधिकारी आदि मौजूद रहे.

इन पाइंट्स पर जताई नाराजगी

स्टेशन पर साफ-सफाई को प्राथमिकता स्तर पर बनाए रखने के दिए विशेष दिशा-निर्देश.

स्टेशन के नवीनीकरण के काम में देरी, टूटी टाइल्स की मरम्मत और स्टेशन में जगह-जगह सीलन को जल्द से जल्द सुधार का आदेश.

कैंट स्टेशन पर सेनिटेशन स्टोर रूम का निरीक्षण.

कैंट स्टेशन के स्टोर रूम को अन्य किसी कमरे में शिफ्ट कराने का आदेश.

कैंट स्टेशन के टॉयलेट के निरीक्षण में गंदगी और बदबू मिलने पर सफाई व्यवस्था के लिए सेनेट्री इंस्पेक्टर को फटकार लगाई.

आरक्षण खिड़की पर लगे टिकट डिस्पले सिस्टम के ना चलने पर एडीआरएम जताई नाराजगी.

आरक्षण काउंटर पर पुराना किराया वापसी नियम बोर्ड को देखकर नाराज हुए.

देर शाम तक मूवमेंट

रविवार को भाजपा कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने पहुंचे रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के आगमन की सूचना पर रविवार को मेरठ के सिटी व कैंट स्टेशन का औचक निरीक्षण किया गया. मंत्री के खौफ से स्टेशन की व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के लिए मुख्यालय से एडीआरएम सहित अन्य अधिकारियों को मेरठ भेजा गया था. रेल मंत्री के कारण देर शाम छह बजे तक रेलवे अधिकारियों का स्टेशन पर मूवमेंट जारी रहा.