टूट गया 25 साल पुराना बीजेपी-सेना गठबंधन
महाराष्‍ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच में 25 साल पुराना गठबंधन टूट गया है. प्रमोद महाजन और शिवसेना प्रमुख बाला साहब ठाकरे के सयुंक्‍त प्रयासों से बना गठबंधन आगामी चुनाव में सीटों के बंटवारे में पड़कर टूट गया है. दरअसल पिछले कुछ दिनों से शिवसेना और बीजेपी में चुनाव में सीटों को लेकर तनाव व्‍याप्‍त था. शिवसेना महाराष्‍ट्र में ज्‍यादा से ज्‍यादा सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती थी ताकि वह असेंबली में अपनी सरकार बना सकते. वहीं बीजेपी का कहना था कि शिवसेना 147 सीटों पर चुनाव लड़े और बीजेपी को 127 सीटों पर चुनाव लड़ने दे और गठबंधन के अन्‍य दलों को 14 सीटों पर चुनाव लड़ने दे. लेकिन इसके लिए शिवसेना आखिर तक तैयार नही हो पाई और स्‍वयं 151 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात करती रही. शिवसेना की सीटों को लेकर जिद और मुख्‍यमंत्री बनने की लालसा को देखते हुए बीजेपी ने यह गठबंधन तोड़ना उचित समझा.

कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन भी टूटा

लोकसभा चुनाव में यूपीए की हार के बाद से कांग्रेस पार्टी और एनसीपी के रिश्‍ते तल्‍ख बने हुए थे.एनसीपी के नेताओं द्वारा कांग्रेस की खुली आलोचना सुनना काफी आम था. लेकिन चुनाव सर पर आते ही एनसीपी और कांग्रेस ने इस गठबंधन को तोड़ लिया है. यह गठबंधन लगभग 15 सालों पुराना था. गौरतलब है कि एनसीपी द्वारा वर्तमान सरकार से समर्थन वापस लेने की स्थिति में महाराष्‍ट्र सरकार अल्‍पमत में आ गई है. इस गठबंधन के टूटने के पीछे एनसीपी नेताओं ने कांग्रेसी मुख्‍यमंत्री पृथ्‍वीरात चव्‍हाण द्वारा उपेक्षा का आरोप लगाया है. लेकिन राजनैतिक विष्‍लेषकों का मानना है कि यह गठबंधन दोनों पार्टियों के परस्‍पर रूखेपन की वजह से टूटा है.

अब होगा पांच कोणीय मुकाबला
महाराष्‍ट्र राज्‍य चुनावों में देखा जाए तो चार तरफा मुकाबला है लेकिन इन चुनावों में मनसे यानि महाराष्‍ट्र नवनिर्माण सेना को भी नजरअंदाज नही किया जा सकता है. गौरतलब है कि राज ठाकरे की पार्टी भी इन चुनावों में बढ़चढ़ कर हिस्‍सा ले रही है. अगर जीत के पूर्वानुमानों को देखा जाए तो एबीपी न्यूज-नीलसन के ओपिनियन पोल के अनुसार सिंगल पार्टी चुनाव लड़ने की स्थिति में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर सकती है.

Hindi News from India News Desk

National News inextlive from India News Desk