भाजपाई और वामपंथी भिड़े, जमकर हुई मारपीट

- भाजपाइयों ने सीपीआई कार्यालय में घुसने का किया प्रयास

पुलिस ने लाठी चार्ज कर प्रदर्शनकारियों को भगाया

DEHRADUN: केरल में आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में आंदोलन कर रहे भाजपाइयों और वामपंथी कार्यकर्ताओं में जमकर मारपीट हुई. दोनों पक्षों की ओर से लाठी और पत्थर चले. विवाद में एक वामपंथी नेता का सिर फूट गया और लहूलुहान हो गया. पुलिस ने लाठी चार्ज कर प्रदर्शनकारियों को भगाया. दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ पुलिस में तहरीर दी है. वहीं सीपीआई (मा‌र्क्सवादी) ने गुरुवार को प्रदेशभर में आंदोलन का एलान किया है.

फाड़े झंडे, तोड़ी कुर्सियां

केरल में आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या व उत्पीड़न के खिलाफ महानगर कार्यालय से भाजपा ने रैली निकाली. रैली लैंसडौन चौक, दर्शन लाल चौक, घंटाघर, गांधी पार्क होते हुए लोकल बस स्टैंड स्थित सीपीआई के कार्यालय पहुंची. यहां भाजपा के युवा कार्यकर्ता पुलिस बल के रोकने के बावजूद सीपीआई कार्यालय में घुसने का प्रयास करने लगे. वहीं कार्यालय में मौजूद वामपंथी नेता भी नारेबाजी करने लगे. इस पर भाजपाइयों ने कार्यालय के बाहर लगे सीपीआई के झंडे फाड़े और कुर्सियां तोड़ दीं. इस पर दोनों पक्ष भिड़ गए और हाथापाई के साथ झडों के डंडों से एक-दूसरे पर वार करने लगे. भाजपाई खेमे से किसी ने पत्थर फेंका, जिससे वामपंथी नेता शेर सिंह राणा घायल हो गए. अन्य कई को भी हल्की चोट आई. इस पर पुलिस ने भाजपाइयों पर लाठी फटकारते हुए उन्हें तितर-बितर किया.

विधायक के तेवर देख नरम हुई पुलिस

लाठी चार्ज का विधायक मुन्ना सिंह चौहान और भाजपा महानगर अध्यक्ष उमेश अग्रवाल ने विरोध किया. उन्होंने कहा कि लाठियां चलाई तो ठीक नहीं होगा, जिस पर पुलिस के तेवर भी नरम पड़ गए. फिर से भाजपाइयों का जमावड़ा लग गया. विवाद बढ़ता देख महानगर अध्यक्ष ने प्रदर्शन समाप्त करने की घोषणा की.