JAMSHEDPUR: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व जिला अध्यक्ष राजकुमार श्रीवास्तव के साथ मंगलवार की रात को मारपीट की गई. मारपीट का आरोप बीस सूत्री के अध्यक्ष संजीव सिंह व उनके साथियों पर लगा है. आरोप है कि संजीव सिंह ने उलीडीह थाना क्षेत्र में कार पार्किग को लेकर हुए विवाद के बाद अपने साथियों के साथ राजकुमार श्रीवास्तव के घर में घुसकर उनके साथ मारपीट की. उलीडीह थाने में दी गई शिकायत में श्रीवास्तव ने तो यहां तक आरोप लगाया है कि आरोपितों ने उनके साथ तो मारपीट की ही, उनकी पत्नी को भी पीटा. और तो और उनकी मां को चाकू से हमला कर घायल तक कर दिया. इतना ही नहीं, उन्हें (राजकुमार) पिस्तौल सटाकर धमकी भी दी गई. आरोप तो यहां तक है कि आरोपितों में शामिल बीके सिंह ने उनकी मां को पुलिस के सामने ही चाकू मारकर घायल कर दिया. जब उन्होंने उलीडीह थाना प्रभारी मुकेश चौधरी से इसकी शिकायत की तो उन्हीं (राजकुमार) को उनकी मां के साथ हिरासत में ले लिया गया. दोनों को पूरी रात थाने में बैठा कर रखा गया और इस बीच उन्हें गंदी-गंदी गालियां दी गईं. भाजपा के वरीय नेताओं को जानकारी मामले की जानकारी होने के बाद दोनों को थाने से छोड़ा गया.

उलीडीह थाने में की शिकायत

मानगो उलीडीह निवासी राजकुमार श्रीवास्तव ने उलीडीह थाना में लिखित शिकायत देते हुए पुलिस को बताया कि चार सितंबर की रात दस बजे वे अपने परिवार के साथ कार से अपने घर पहुंचे. घर के दरवाजा पर किसी और की कार खड़ी थी. इससे वे अपनी कार को गैरेज की ओर नहीं ले जा पा रहे थे. उन्होंने हार्न बजाया, लेकिन किसी ने गाड़ी नहीं हटाई तो वे अपनी कार से उतर कर विजया होम के गार्ड के पास गए और उससे कहा कि गेट सामने लगी कार को वहां से हटाया जाए. यह बोल कर वे वापस लौटे, लेकिन तभी विजया होम के अंदर से करीबन 30-40 लोग बाहर निकले और गाली-गलौज करने लगे. भीड़ का नेतृत्व सिदगोड़ा बारीडीह निवासी संजीव सिंह, जो बीस सूत्री के अध्यक्ष हैं, कर रहे थे. उनके साथ तिवारी जो विजया होम के अध्यक्ष हैं, भी थे. सभी अंदर में पार्टी कर रहे थे. शिकायत में राजकुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि अधिकतर लोग शराब के नशे में थे. सभी ने लाठी-डंडा और चाकू से उन पर हमला कर दिया. अपनी जान बचाते हुए अपने घर में घुस गए. संजीव सिंह और तिवारी जी अपने साथी के साथी के साथ घर के अंदर आ गए. रिवाल्वर निकाल कर मेरे मुंह में डाल दिया. मेरे और पत्‍‌नी के साथ मारपीट करने लगे. पत्‍‌नी की गले से सोने की चेन, मंगलसूत्र और मां के हाथ से सोने की बाली छीन ली. पत्‍‌नी के साथ छेड़खानी किया गया. राजकुमार श्रीवास्तव ने बताया कि उनका पेट्रोल पंप है. वहां से लौटे थे. पंप के तीन-चार दिन का 5 लाख 70 हजार रुपया बैग में था. उसे भी छीन लिया. मां कैंसर से पीडि़त है. मारपीट के कारण पत्‍‌नी बेहोश हो गई. मेरे बायां कान फट गया.

थाना प्रभारी के खिलाफ शिकायत

राजकुमार श्रीवास्तव की मां गीता देवी ने उलीडीह थाना प्रभारी मुकेश चौधरी पर गंदी-गंदी गालियां देने. घूसा मारकर जमीन पर गिरा दिया. इसकी शिकायत एसएसपी से करते हुए गीता देवी ने बताया कि बेटे के साथ मंगलवार रात साढे 11 बजे कुछ लोग मारपीट कर रहे थे. बेटे को बचाने गई तो वहां खड़े थानेदार मुकेश चौधरी ने गंदी-गंदी गालियां देने लगे. इस बीच विजया ग्रीन अर्थ निवासी बीके सिंह ने उस पर चाकू से हमला कर दिया. हाथ की नस कट गई. हाथ टूट गया. बेहोश होकर वह गिर गई.