- असि। इंजीनियर की मौके पर मौत, 3 एई समेत 8 लोग घायल, दो अफसरों की हालत नाजुक

- प्रूफ टेस्टिंग के लिए आई तोप में हुआ हादसा, कई महीनों से टेस्टिंग के लिए पड़ी थी तोप

KANPUR: ओएफसी में टयूजडे दोपहर हुए हादसे में तोप का रिक्वॉयल फटने से असिस्टेंट इंजीनियर की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि तोप की प्रूफ टेस्टिंग करने वाली टीम में शामिल 8 लोग घायल हो गए। धमाका इतना तेज था कि एक इंजीनियर का पैर ही उड़ गया। हादसे में 3 सीनियर इंजीनियर समेत कुल 8 कर्मचारी घायल हुए हैं। जिन्हें इलाज के लिए रीजेंसी हास्पिटल में भर्ती कराया गया। हादसे के बाद आर्डिनेंस फैक्ट्री के अधिकारियों व कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। सूत्रों की माने तो जिस तोप की रिक्वायल फटी वह काफी समय से गन शॉप में प्रूफ टेस्टिंग के लिए पड़ी थी। रिक्वायल में गड़बड़ी के चलते ही प्रूफ टेस्टिंग टीम इस पर काम करने से बच भी रही थी, हादसे के वक्त तोप का बैरल नहीं लगा था सिर्फ रिक्वायल को ही तोप के कैरेज में लगाया जा रहा था। इसी दौरान रिक्वायल के पुल बैक होने से जोरदार धमाका हो गया। घटना को लेकर ओएफसी प्रबंधन की ओर से जांच के लिए कहा गया है। खुद ओएफसी के जीएम घायलों का स्थिति जानने हास्पिटल पहुंचे।

गन शॉप में हुआ हादसा

आर्डिनेंस फैक्ट्री में तोपों की प्रूफ टेस्टिंग का भी काम होता है। इसके लिए कैरेज के साथ बैरल व तोप के दूसरे अहम हिस्से गन शॉप में लाए जाते हैं। तोपों की प्रूफ टेस्टिंग का काम ओईएफ का सीनियर क्वालिटी एश्योरेंस स्टेब्लिशमेंट(आर्मामेंट) करता है। सूत्रों की माने तो जिस तोप में धमाका हुआ। वह काफी समय से गन शॉप में प्रूफ टेस्टिंग के लिए पड़ी थी। यह 30 एमएम की तोप बताई जा रही है। जिसके लिए प्रूफ टेस्टिंग टीम को काम करना था। तोप की रिक्वायल जिसमें धमाका हुआ। उसकी कुछ दिन पहले ही रिपेयरिंग हुई थी। प्रूफ टेस्टिंग टीम रिक्वायल को लगा ही रही थी तभी उसमें धमाका हुआ। जिससे जबलपुर के सीनियर एई एमएस राजपूत की मौके पर ही मौत हो गई। धमाका इतना जोरदार था कि एक एई प्रताप सिंह का एक पैर उड़ गया।

हालत अभी नाजुक

धमाके के बाद कर्नल दीपक महाजन जो प्रभारी हैं, मौके पर पहुंचे। अर्मापुर पुलिस को भी घटना की जानकारी हुई तो वह ओएफसी पहुंची। इस दौरान घायल कर्मचारी और अधिकारियों को इलाज के लिए पहले ओएफसी के हास्पिटल ले जाया गया। जहां एई एमएस राजपूत को डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया। जबकि बाकी की हालत भी नाजुक होने की वजह से उन्हें रीजेंसी हास्पिटल भेजा गया।

हादसे में घायल-

एई पंकज श्रीवास्तव, एई प्रताप सिंह, एई संदीप केलकर, एग्जामनर एमपी महतो, द्वारिका शाह, व कैजुअल वर्कर रामचंद्र गुप्ता करूणा शंकर व अतुल श्रीवास्तव

'' घटना 3.30 बजे के करीब है गनशॉप में रूटीन काम के दौरान यह हादसा हुआ। जिसमें एक असिस्टेंट इंजीनियर की मौत हो गई। 8 लोग घायल हैं जिन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। फैक्ट्री में ऐसा हादसा कभी नहीं हुआ। मामले की रिपोर्ट रक्षा मंत्रालय को भेजी जा रही है। हादसे के कारणों की जांच शुरू कर दी गई है.''

- मुकुल कुमार गर्ग, जीएम, ओएफसी