- शिक्षा विभाग ने बनाएं ब्लॉक अधिकारी

सूचनाओं को करेंगे एकत्रित, होगा इंस्पेक्शन

Meerut . उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के तहत आने वाले सभी माध्यमिक स्कूलों में पर अब विभाग की सीधी नजर रहेगी. इसके लिए शिक्षा विभाग की ओर से स्कूलों को अलग-अलग ब्लाकों में बांट दिया गया है. इसके साथ ही हर ब्लाक के लिए एक-एक ब्लाक अधिकारी भी नियुक्त कर दिया गया है.

12 ब्लाकों में बंटे स्कूल

माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर से सभी स्कूलों को 12 ब्लाकों में बांटा गया है. इन ब्लाकों के अंतर्गत ही विभाग ने सभी 406 स्कूलों को बांटा गया है इस लिहाज से एक ब्लाक में 30 से 33 स्कूलों को शामिल किया गया है. चुनिंदा स्कूलों के प्रिंसिपल को ब्लाक अधिकारी के रूप में नियुक्त किया जाएगा. वहीं स्कूलों से मांगी जाने वाली सूचनाओं की मॉनीटिरिंग इन्हीें ब्लाक अधिकारियों को करनी होगी. वहीं ब्लॉक स्तर पर ही सभी सूचनाएं पहले से ही संकलित करके रखी जाएंगी. अगर किसी स्कूल की ओर से मांगी गई सूचनाएं समय से नहीं मिलती हैं तो इसकी जिम्मेदारी ब्लॉक अधिकारी की होगी.

औचक निरीक्षण होगा

स्कूलों में होने वाली अनियमितताओं को देखते हुए विभाग की ओर से स्कूलों की इंस्पेक्शन की जिम्मेदारी भी ब्लॉक अधिकारियों को दी गई है. वहीं अमान्य स्कूलों की धरपकड़ का काम भी ब्लॉक अधिकारियों को सौंपा जाएगा. इसके अलावा यह अधिकारी समय-समय पर स्कूलों में जाकर वहां स्टूडेंट्स की उपस्थिति, टीचर्स की उपस्थिति, पढ़ाई की गुणवत्ता, स्कूलों की गतिविधि, इंफ्रास्ट्रक्चर आदि की जांच करेंगे.

--------

स्कूलों की ओर से विभाग को समय से सूचनाएं नहीं मिलती है जिसकी वजह से बोर्ड को सूचनाएं भेजने में देरी हो जाती है, वहीं स्कूलों की रेग्यूलरिटी बनी रही, इसके लिए यह योजना तैयार की गई है. इस पर जल्द ही काम शुरु कर दिया जाएगा.

गिरजेश कुमार चौधरी

डीआईओएस