ALLAHABAD: बैंक में मिले. दोस्ती की. फिर दो चार बातें की और शराब दुकान के ओनर के एक लाख पांच सौ रुपये लेकर चंपत हो गए. मामले का पता चला तो बैंक में हड़कंप मच गई. आनन-फानन में पुलिस को खबर दी गई. पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल की, लेकिन टप्पेबाज पकड़ में नहीं आ सके.

दोस्त की दुकान का था पैसा

कौंधियारा का निवासी सत्येंद्र कुमार बालसन चौराहे के पास किराए के मकान में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता है. उसके साथ विकास नाम का युवक भी रहता है. उसने इस बार शराब दुकान के लिए अप्लाई किया था तो उसे एक दुकान जार्ज टाउन एरिया में मिल गई. बुधवार को सत्येंद्र विकास की दुकान की बिक्री का कलेक्शन जमा कराने के लिए एक लाख पांच सौ रुपये लेकर जॉर्ज टाउन थाना क्षेत्र स्थित यूनियन बैंक की शाखा पहुंचा.

पैसा लेकर हो गए गायब

बैंक में अंदर घुसते ही पैसा जमा करने वाला फार्म तलाश करने के दौरान बैंक में मौजूद कुछ युवकों ने मदद के नाम पर उससे दोस्ती गांठ ली. उन्होंने उसके बारे में काफी पूछताछ की और बातों में फंसाकर उसके रुपये गायब कर दिए. जब तक सत्येंद्र को इसका आभास हुआ टप्पेबाज युवक बैंक से गायब हो गए थे.

बैंक में मची हड़कंप

इसके बाद वह रुपये चोरी हो जाने को लेकर शोर मचाने लगा. इससे बैंक में हड़कंप मच गई. बैंक अधिकारी भागे-भागे उसके पास पहुंचे और पूछताछ शुरू कर दी. इस बीच बैंक की ओर से जार्ज टाउन थाने को इसकी सूचना दी गई. सूचना पर इंस्पेक्टर संतोष शर्मा बैंक पहुंचे और जांच पड़ताल की. उन्होंने टप्पेबाजों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की है.

सत्येन्द्र विकास की वाइन शॉप का पैसा जमा करने बैंक गया था. तभी वहां पहले से मौजूद कुछ युवकों ने उससे लाखों की रकम ठग ली.

संतोष शर्मा, इंस्पेक्टर, जार्ज टाउन