144 सेंटर्स की लिस्ट जारी की गई है

136 सेंटर्स बने थे पिछले साल

3 गुना बढ़ गई सेल्फ फाइनेंस स्कूलों की संख्या

- शिक्षक संघ ने सेंटर निर्धारण में बोर्ड पर लगाए धांधली के आरोप

- किसी सेंटर पर जरूरत से ज्यादा तो किसी में काफी कम स्टूडेंट्स किए आवंटित

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : नकल माफिया से मोटी डीलिंग के कारण मानक दरकिनार कर इस बार यूपी बोर्ड सेंटर बनाए गए हैं. राजकीय एवं सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों को केंद्र न बनाकर बीते साल की तुलना में तीन गुना अधिक सेल्फ फाइनेंस स्कूलों को सेंटर बनाया गया है. इससे शिक्षक संघ नाराज है. माध्यमिक शिक्षक संघ शर्मा गुट के प्रदेशीय मंत्री व प्रवक्ता डॉ. आरपी मिश्र ने बताया कि केंद्र निर्धारण में यूपी बोर्ड ने हाईस्कूल व इंटर की बोर्ड परीक्षा के लिए जिले में निर्धारित किए गए परीक्षा केंद्रों में कई गड़बडि़यां की हैं. किसी स्कूल में ज्यादा स्टूडेंट्स आवंटित कर दिए हैं तो किसी में धारण क्षमता से कम. गड़बडि़यां सामने आने के बाद इनमें बदलाव किया जाना तय माना जा रहा है.

पूरी तरह की अनदेखी

डॉ. आरपी मिश्र ने बताया कि सीएम योगी और डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा की ओर से नकलविहीन परीक्षा कराने के संकल्प की राजधानी में ही धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. बीते साल की तुलना में परीक्षा केंद्रों की संख्या घटाने की जगह 136 से बढ़ाकर 144 कर दी गई. राजकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों की संख्या घटा दी गई और सेल्फ फाइनेंस विद्यालयों की संख्या लगभग तीन गुना से अधिक बढ़ा दी गई.

नहीं किया सही आकलन

यूपी बोर्ड ने जिले में 144 एग्जाम सेंटर्स की सूची जारी की है. एग्जाम सेंटर्स का निर्धारण ऑनलाइन किया गया है. इसके लिए बोर्ड की वेबसाइट पर सभी स्कूलों ने मूलभूत संसाधन जैसे छात्रों की संख्या, कक्षाओं की संख्या, फर्नीचर, सीसीटीवी कैमरे आदि की सूचनाएं अपलोड की थीं. बोर्ड ने एग्जाम सेंटर्स बनाते समय कई व्यवहारिक गड़बडि़यां की हैं. स्कूलों में छात्रों के बैठने की क्षमता का सही आंकलन नहीं किया गया है. बोर्ड परीक्षा नीति के अनुसार एक विद्यालय में कम से कम 300 और अधिकतम 1200 स्टूडेंट्स आवंटित किए जाने हैं. लेकिन करीब डेढ़ दर्जन स्कूलों जिनमें ज्यादा स्टूडेंट्स बैठाए जा सकते हैं वहां पर काफी कम छात्र आवंटित किए हैं. वहीं कई निजी स्कूलों में ज्यादा स्टूडेंट्स आवंटित कर दिए गए हैं.

बाक्स

इन स्कूलों में धारण क्षमता

स्कूल का नाम आवंटित छात्र संख्या हाईस्कूल इंटरमीडिएट

जीजीआईसी गोमती नगर 635 242 393

शिशु मंदिर इंटर कॉलेज 833 530 203

तालीमगाहे निस्वां इंटर कॉलेज 528 362 166

गुरुनानक ग‌र्ल्स इंटर कॉलेज 713 462 251

म्यूनिसिपल ग‌र्ल्स इंटर कॉलेज 417 266 151

मोतीलाल नेहरू मेमोरियल ग‌र्ल्स इंटर कॉलेज 486 356 130

एमकेएमएसडी इंटर कॉलेज में 947 375 572

जीजीआईसी शाहमीना 677 204 473

कोट

जिला स्तरीय टीम सेंटर्स की समीक्षा कर रही है. धारण क्षमता के अनुसार एग्जाम सेंटर्स में बड़े पैमाने पर बदलाव किया जाएगा. शिफ्टिंग सूची में फेरबदल होगा, जहां कम स्टूडेंट्स आवंटित हैं वहां और स्टूडेंट्स भेजे जाएंगे.

- डॉ. मुकेश कुमार सिंह, डीआईओएस

बोर्ड ने न केवल एडेड स्कूलों को इस बार सेंटर्स की सूची से बाहर किया है. बल्कि ऐसे कई स्कूलों में कम छात्र आवंटित किए है, जिनकी धारण क्षमता 700 से 1200 छात्रों की है.

- डॉ. आरपी मिश्रा, प्रवक्ता, माध्यमिक शिक्षक संघ