- छावनी परिषद की मासिक बोर्ड बैठक में रखे जाएंगे कई प्रस्ताव

बरेली : कैंटोनमेंट बोर्ड छावनी परिषद की ट्यूजडे को मासिक बोर्ड बैठक है। इसमें लिए जाने वाले कुछ फैसले गैर छावनी क्षेत्र में रहने वाले लोगों को भी प्रभावित करेंगे। ऐसे में बोर्ड बैठक पर कैंटोनमेंट एरिया के अलावा शहर के अन्य क्षेत्र के लोगों की भी नजर रहेगी। बैठक में करीब ग्यारह प्रस्ताव रखे जाएंगे।

नेटवर्क की समस्या कब तक होगी खत्म

पार्षदों ने बताया कि कैंट एरिया में मोबाइल सिग्नल की समस्या दूर करने के लिए यहां मोबाइल नेटवर्क टावर लगाने काभी प्रमुखता से बैठक में उठाया जाएगा। कैंट बोर्ड पिछले कई वर्षो से कैंट इलाके में मोबाइल टॉवर लगाने का आश्वासन देता आ रहा है। लेकिन इस बार इस बात पर मोहर लगेगी कि आखिर कैंट एरिया में मोबाइल टॉवर कब लगेगा।

बढ़ सकता है टोल टैक्स

लाल फाटक रोड से गुजरने वाले कॉमर्शियल वाहनों से टोल टैक्स वसूली के लिए नगर निगम ने 6 हजार रुपए प्रतिदिन के हिसाब से ठेका दे रखा है। फरवरी में कैंट बोर्ड ने एक निजी कंपनी से टोल टैक्स वसूली का सर्वे कराया था सर्वे कराया था। मार्च में आई रिपोर्ट में पता लगा कि ठेकेदार कैंट बोर्ड को जितना भुगतान कर रहा है उससे कई गुना ज्यादा उसे कमाई हो रही है। इसके बाद ठेकेदार से अस्थाई रूप से एक महीने तक करीब साढ़े 15 हजार रुपये प्रतिदिन के हिसाब से भुगतान लिया गया। यह पिछले भुगतान के मुकाबले दोगुना से ज्यादा था। अब बैठक में ठेकेदार से वसूली बढ़ाने के फैसले पर भी मुहर लग सकती है। ऐसे में माना जा रहा है कि इससे कैंट के टोल बूथ से गुजरने वाले वाहन चालकों पर भी टोल टैक्स का बोझ कुछ बढ़ सकता है।

कैसे पूरा होगा घाटा

बीती 20 अप्रैल को देवचरा में जनसभा करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल फाटक होते हुए गुजरे थे। इसके चलते कैंट बोर्ड ने एक दिन पहले से ही टोल टैक्स वसूली बंद करवा दी थी। इसके चलते ठेकेदार को दो दिन घाटा उठाना पड़ा। बैठक में ठेकेदार के नुकसान की भरपाई का मुद्दा भी उठ सकता है।

स्कूलों में एडमिशन कोटा पर रहेगी नजर

सभासद कई बार कह चुके हैं कि जनप्रतिनिधि होने के बावजूद छावनी क्षेत्र के निजी स्कूल सेंट मारिया गोरेटी इंटर कॉलेज और बिशप कोनराड स्कूल में एडमिशन के लिए उनके प्रस्तावों को तबज्जो नहीं दी जाती है। पिछली बैठक के एजेंडे में भी यह मुद्दा शामिल किया था। बैठक में कैंट बोर्ड पदाधिकारी, रक्षा संपदा अधिकारी व सभासदों के साथ दोनों स्कूल के प्रधानाचार्य को भी बुलाया है। इसमें सभासदों का कुछ सीटों पर कोटा फिक्स किए जाने की उम्मीद है।

बैठक में ये मुद्दे भी रहेंगे अहम

कैंट क्षेत्र में होर्डिग लगवाने के बाबत, छावनी क्षेत्र के निजी स्कूलों में आउटसोर्सिग से अध्यापकों की नियुक्ति, वार्षिक प्रशासनिक वित्तीय रिपोर्ट भी बैठक में होगी। बोर्ड और कॉन्फ्रेंस हॉल में कुर्सी खरीदने के प्रस्तावों पर चर्चा होगी।