सेक्‍स रैकेट का खोलेंगे राज
ऋचा मुंबई में एक एनजीओ के साथ जुड़ी हैं और उन्होंने मानव तस्करी और सेक्स रैकेटों पर एक डॉक्युमेंट्री फिल्म भी निर्देशित की है। इस दौरान उन्होंने सेक्स रैकेटों का शिकार हुई लड़कियों की जिंदगी को बेहद करीब से जाना। अब ऋचा ने इन लड़कियों की जिंदगी के इस दर्द को सारी दुनिया के सामने बयां किया है। इस मुद्दे पर ऋचा दूसरे बॉलीवुड सितारों का साथ भी चाहती हैं। वह कहती हैं कि बॉलीवुड सितारे उनके इस अभियान में साथ दें, जिससे कि यह बात आम जनता तक पहुंच सके।

लड़कियों की होती है खरीद-फरोख्‍त
ऋचा बताती हैं कि कुछ समय पहले एक रैकेट से बचाए गए पांच बच्चों में दो लड़के दस साल से कम के थे जबकि तीन लड़कियां थीं। ऋचा के अनुसार इन बच्चों की अंतरराष्ट्रीय स्तर तक खरीद-फरोख्त होती है। पहले इन्हें नशे का आदी बना दिया जाता है और बालिग होते ही इनकी वर्जिनिटी को नीलाम कर दिया जाता है। यही नहीं रैकेट चलाने वाला समूह इन बच्‍चों के साथ अमानवीय व्‍यवहार भी करता है। जो बच्‍चे इनके चंगुल से बचाए गए उनके शरीर पर सिगरेटों और चिमटों से जलाए जाने के दाग थे।

बॉलीवुड से 100 गुना ज्‍यादा है इसकी कमाई
वैसे ऋचा ने इस अंधेरी दुनिया को दिया दिखाने की मुहिम छेड़ दी है लेकिन वह चाहती हैं कि लोग आगे आकर उनका साथ दें। आपको बताते चलें कि बॉलीवुड फिल्‍म इंडस्‍ट्री का साल का टर्नओवर करीब दो बिलियन डॉलर है। जबकि दुनिया भर में सेक्स रैकेटों से चलने वाले बिजनेस की कमाई 200 बिलियन डॉलर है। इससे अंदाजा लगाया जा सकात है कि यह रैकेट कितना बड़ा और कहां तक फैला है। इन्‍हें रोकना आसान काम नहीं है, क्‍योंकि दुनिया के कई देशों में सत्ताओं में बैठे तमाम लोग और यहां तक कि कई सरकारें इसमें शामिल हैं।

पुनर्वास के लिए बनाया फंड
ऋचा चाहती हैं कि वह चंदा इकट्ठा करके मुंबई में फ्लैट खरीदें और वहां रैकेटों के चंगुल से बचाए बच्चों को रख कर उन्हें पैरों पर खड़े होने में मदद दें। वह इन बच्चों को डांस, संगीत या उनके मन का कुछ सिखा कर नई दिशा प्रदान करेंगी। ऋचा ने सेक्स रैकेटों से निकाली गई लड़कियों के पुनर्वास के लिए एक फंड बनाया है। इस फंड की निर्धारित राशि का दसवां हिस्सा भी ऋचा ने सबसे पहले जमा किया है।

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk