- डायवर्जन हटने के साथ ही फंसी गाडि़यां, देर शाम तक लगा जाम

- वैकल्पिक मार्गो पर वाहनों का दबाव बढ़ने से हुई जाम की दिक्कतें

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW : पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थि कलश यात्रा के दौरान सुगम ट्रैफिक व्यवस्था के लिए जोर-शोर से तैयारियां की गई थीं. हालांकि पुलिस की इस तैयारियों की बारिश ने हवा निकाल दी. अस्थि कलश यात्रा के दौरान बारिश और डायवर्जन खत्म होने के साथ ही शहर के कई इलाके भीषण जाम से जूझते रहे. देर शाम तक लोग जाम में फंसे रहे. यात्रा के गुजरने के बाद पुलिस कर्मियों ने बैरीकेडिंग खोल दी और मौके से हट गए जिसके चलते अचानक गाडि़यों का काफिला आगे बढ़ा और जाम में फंस गया.

कई एरिया जाम के चपेट में आए

दोपहर एयरपोर्ट से कलश यात्रा निकलते ही कानपुर रोड से कृष्णानगर मार्ग पर वाहनों का आवागमन रोका गया. जिसके कारण अमौसी एयरपोर्ट तिराहे से लेकर इंडस्ट्रियल एरिया चौराहे पर वाहनों की कतारें लग गई. बाराबिरवा चौराहे पर पहुंचते ही वीआईपी मार्ग, हरदोई रोड पर वाहनों की रफ्तार थम गई. लोग आशियाना और पावर हाउस चौराहे की ओर निकले तो वहां भी जाम लग गया. इसके बाद आलमबाग, आरडीएसओ रोड, चंदरनगर पर भी वाहनों का दबाव रहा. कलश यात्रा चारबाग पहुंची तो नत्था होटल चौराहे से नाका और पानदरीबा रोड जाम की चपेट में आ गई. बांसमंडी पहुंची तो लाटूश रोड, कैसरबाग तक वाहनों का दबाव दिखा. यात्रा बर्लिगटन चौराहे पहुंची तो उदयगंज और कैंट रोड जाम की चपेट में आ गई. हालांकि कलश यात्रा के यहां से निकलने बाद करीब दो घंटे तक यातायात व्यवस्था ध्वस्त रही.

डायवर्जन हटते ही लगा लंबा जाम

कलश यात्रा दोपहर बाद भाजपा प्रदेश मुख्यालय पहुंची. वाहनों का काफिला यहां पहुंचते ही अशोक मार्ग पर ट्रैफिक का आवागमन रोक दिया गया. जिसके कारण अशोक मार्ग, महात्मा गांधी मार्ग और अशोक मार्ग पर वाहनों के पहिए थम गए. लोग जाम से बचने को नवल किशोर रोड, नवयुग कॉलेज रोड और सप्रू मार्ग की ओर बढ़े तो यहां और हालात बदतर हो गए. यात्रा जब वाल्मीकि मार्ग के रास्ते जिलाधिकारी कार्यालय के पास पहुंची तो कैसरबाग, डालीगंज और हनुमान सेतु की ओर से आ रहे वाहन रोके गए. जिसके कारण हजरतगंज चौराहे से लेकर चिरैयाझील, मोतीमहल रोड, विश्वविद्यालय रोड और आईटी चौराहे तक जाम लगा रहा. इस बीच यहां कई एंबुलेंस भी जाम में फंसी रहीं. करीब दो किमी तक लंबी कलश यात्रा और भारी जनसैलाब की वजह से जो वाहन जहां थे वहीं खड़े हो गए. रात तक मुख्य मार्ग एवं वैकल्पिक मार्गो पर जाम की समस्या बनी रहीं.