- उधारी की रकम वापस मांगने पर हुआ था झगड़ा

- तालकटोरा में दर्ज थी प्रापर्टी डीलर की गुमशुदगी

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

ठाकुरगंज पुलिस ने बुधवार रात प्रॉपर्टी डीलर को अगवा कर हत्या करने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया. प्रॉपर्टी डीलर की नशे की गोलियां देकर बेहोश करने के बाद गला दबाकर हत्या की गई थी और उसका शव लखीमपुर में फेंका गया था.

चाय में मिलाई थीं नींद की गोलियां

सीओ चौक दुर्गा प्रसाद तिवारी ने बताया कि ठाकुरगंज हसरत टाउन बालागंज निवासी इशरार उर्फराजू की हत्या 18 अगस्त को की गई थी. हत्या में अभिनव सक्सेना और गौरव उर्फ अंकित की मदद की. हत्या से पहले इशरार को चाय में नींद की गोलियां दी गई थीं. जब वह बेहोश हुआ तो अमरीश और अभिनव ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और कार से शव ले जाकर लखीमपुर के मितौली में फेंक दिया.

डेढ़ लाख रुपये का विवाद था

इंस्पेक्टर अंजनी कुमार पांडेय ने बताया कि इशरार और अशोकनगर निवासी अमरीश प्रॉपर्टी का काम करते थे. अमरीश ने इशरार से डेढ़ लाख रुपये उधार लिया था. इसमें कुछ रकम तो चुकाई लेकिन एक मोटा हिस्सा बाकी था. इसी बात को लेकर इशरार ने दो माह पहले अमरीश की पिटाई की थी. इसका बदला लेने के लिए अमरीश ने इशरार की हत्या की योजना बनाई थी.

प्लास्टिक से हुई शिनाख्त

सीओ दुर्गा प्रसाद के मुताबिक आरोपियों ने हत्या के बाद इशरार के मुंह से निकल रहे खून को रोकने के लिए प्लास्टिक के थैले का प्रयोग किया था. मितौली पुलिस को जब शव मिला तो मुंह पर लगे प्लास्टिक थैली के आधार पर तालकटोरा पुलिस से संपर्क किया. तालकटोरा पुलिस ने एक व्यक्ति के गायब होने की जानकारी दी. लखीमपुर पुलिस ने शव की तस्वीर भेजी जो इशरार से मिल गई.

बाक्स

हत्या के बाद मंदिर में दर्शन किए

इशरार की लाश लखीमपुर में फेंकने के बाद अमरीश और गौरव पीलीभीत होते हुए पूर्णागिरी मंदिर दर्शन करने गए. पुलिस के मुताबिक अमरीश का आपराधिक इतिहास है. वह पहले भी जेल जा चुका है.