फेसबुक लाइव पर मंगेतर ने देखा फांसी लगाते हुए
agra@inext.co.in
AGRA : आर्मी में जवान नहीं बन पाया तो जान देने की ठान ली. फेसबुक लाइव पर आकर फांसी लगा ली. परिजन जब तक मौके पर पहुंचे युवक की मौत हो चुकी थी. फेसबुक पर युवक की सुसाइड का वीडियो देख मंगेतर की रूह कांप गई.

लम्बे समय से रह रहा है परिवार
मूलरूप से बिहार, गांव वेला, जमावा थाना मोहनपुर निवासी 25 वर्षीय मुन्ना सिंह पुत्र प्रभु प्रसाद का परिवार थाना न्यू आगरा, कमलानगर, त्रिवेणी नगर में पिछले 25-30 साल से रह रहा है. मुन्ना की दो स्कूल वैन चलती हैं, जबकि पिता जनरल स्टोर पर बैठते हैं. मुन्ना भाई-बहनों में सबसे बड़ा है. छोटा भाई विकास बीकॉम कर रहा है. इससे छोटा सचिन इंटर व बहन अनुपम नौवीं की छात्रा है. मुन्ना बीएससी फाइनल ईयर का छात्र था. कुछ दिनों पहले ही परिवार ने उसका सम्बंध गांव की ही युवती से किया था. फरवरी 2019 में शादी होनी थी.

तीन बजे चला वीडियो
मंगलवार रात तीन बजे मुन्ना फेसबुक पर लाइव आया. उसने फांसी का फंदा बना लिया. सभी से जय हिंद बोला और फंदा तैयार कर लिया. उस समय उसके पिता प्रभु प्रसाद व मां गीता देवी दुकान पर थे. घर पर छोटे भाई व बहन थे. वह अपने कमरे में सब कर रहा था. कई लोग उस दौरान लाइव थे. जब वह फंदे पर लटक रहा था, तो कई लोगों ने उसकी लाइव वीडियो को लाइक किया व कमेंट के अलावा शेयर भी किया. रात में चार बजे मंगेतर ने जब फेसबुक पर लाइव सुसाइड देखा तो उसके होश उड़ गए. परिजनों के मुताबिक उसने अपने पिता को बताया. पिता ने मुन्ना के पिता को कॉल कर बताया कि जल्दी घर जाओ मुन्ना का गलत मैसेज आया है. इसके बाद रिश्तेदार कैलाश ने पिता को फोन कर बताया कि दुबई से भतीजे मोंटी का फोन आया कि मुन्ना सुसाइड कर रहा है. पिता भाग कर घर पहुंचे, लेकिन जब तक मुन्ना की जान जा चुकी थी. पिता ने रोते हुए बेटे का शव फंदे से नीचे उतारा.

भगत सिंह को अधिक मानता था
पिता ने बताया बेटा शुरू से भगत सिंह को मानता था. वह उनकी तरह ही रहता था. उसने कमरे में उनकी फोटो लगा रखी है. शहीदी दिवस पर उसने कई प्रोग्राम किए थे. भाई ने बताया कि उसने भगत सिंह के साहित्य को बहुत पड़ा था. सेना में जाना चाहता था. उसने तीन बार सेना का एग्जाम दिया, लेकिन हर बार किसी न किसी वजह से वह रह जाता था. पिछले मंगलवार को भी वह एग्जाम देने गया था, उसमें भी उसका नम्बर नहीं आया. वह देश की सेवा करना चाहता था. इस बात को लेकर वह क्षुब्ध हो गया था.