-सीबीआई के डीआईजी ने दिन में कई बार की राहुल से पूछताछ

श्चड्डह्लठ्ठड्ड@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

र्रून्स्नस्नन्क्त्रक्कक्त्र/क्कन्ञ्जहृन्: सीबीआइ और सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लेबोरेट्री (सीएफएसएल) की टीम शनिवार को जांच के लिए मुजफ्फरपुर के बालिका गृह में पहुंची, जहां बच्चियों के साथ दुष्कर्म किया गया था. डीआइजी अभय कुमार के नेतृत्व में विशेष टीम ने मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में बालिका गृह के कमरों को खोला और चप्पे-चप्पे खंगाला. बालिका गृह कैंपस की खुदाई के लिए जेसीबी भी मंगाई गई थी, लेकिन जांच में देरी होने से खुदाई नहीं हो सकी. टीम ने सौ से अधिक फाइले जब्त की. महिला थानेदार से केस से जुड़े अन्य कागजात मंगवाए. उन्हें साथ बैठाकर दो घंटों तक कई बिंदुओं पर पूछताछ की. ज्ञात हो कि ब्रजेश ठाकुर के पुत्र राहुल आनंद से घटना के बाद पहली बार सीबीआइ की टीम ने घंटों पूछताछ की. राहुल ने मीडिया को बताया कि सीबीआइ पर उसे भरोसा है. जांच में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.

दो भवनों के बीच बनी है सीढ़ी

एफएसएल टीम ने ब्रजेश के पारिवारिक अखबार के प्रेस कार्यालय की घंटों जांच की. वहां से कई नमूने साक्ष्य के तौर पर एकत्र किए. कार्यालय के पीछे से खुलने वाले दरवाजे को भी देखा. टीम ने बालिका गृह के सभी कमरों को बारीकी से खंगाला. दो भवनों के बीच बनी सीढि़यों को देखकर टीम अचंभित रह गई.

ब्रजेश ठाकुर की जेब से मिले 40 मोबाइल नंबर

बिहार की सभी 58 जेलों में शनिवार को छापेमारी हुई. मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन ने इस दौरान बालिका गृह यौन उत्पीड़न कांड के मुख्य अभियुक्त ब्रजेश ठाकुर की भी तलाशी ली. भले ही इस तलाशी में ब्रजेश ठाकुर के पास से कोई आपत्तिजनक सामान बरामद नहीं हुआ, लेकिन उसकी जेब से मिले दो पन्ने ब्रजेश के साथ साथ कुछ अन्य सफेदपोशों की मुश्किलें बढ़ा सकते हैं. जेल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ब्रजेश की जेब से दो पन्ने बरामद किए गए है. इसमें कुल 40 टेलीफोन नंबर हैं.

जेब से मिले मंत्री और वकीलों के नंबर को जिला प्रशासन ने किया जब्त

इनमें एक मंत्री के नाम के सामने उनका फोन नंबर भी लिखा है. इसके अलावा उसमें कई वकीलों के नंबर भी मौजूद हैं. मुजफ्फरपुर जिला प्रशासन ने ब्रजेश की जेब से मिले कागजात को जब्त कर लिया है. जेल सूत्रों ने यह भी बताया कि जब मुजफ्फरपुर के डीएम व एसपी जेल के अंदर छापेमारी करने गए तो उन्हें ब्रजेश ठाकुर मुलाकातियों के कक्ष में दिख गया. ऐसे में उसकी कथित बीमारी भी अब जांच के दायरे में आ गई है. बता दें कि पिछले दिनों सीबीआइ ने भी जेल प्रशासन से ब्रजेश की मेडिकल रिपोर्ट तलब की थी.