साइंटिफिक नेम- टेबीबुइया क्रिस्टोरिका

लोकल नेम- गोल्डन ट्रंपेट ट्री

1 ही पेड़ है पूरे मंडल में

25 साल पुराना है पेड़

: वातावरण के लिए उपयोगी पेड़ों की विलुप्त होती प्रजातियों के संरक्षण के लिए अर्थ डे से शुरू हुए दैनिक जागरण आई नेक्स्ट के कैंपेन डॉक्यूमें 'ट्री' आज हम आपको शहर में गुलजार ब्राजील के नेशनल ट्री टेबीबुइया क्रिस्टोरिका के बारे में बता रहे हैं। गर्मी का मौसम शुरू होने के साथ ही इस पेड़ पर फूल आने शुरू हो जाते हैं। पीले फूलों से लदे इस पेड़ को गोल्डन ट्रंपेट ट्री के नाम से भी जाना जाता है।

मंडल का इकलौता पेड़

बरेली कॉलेज के बॉटनी डिपार्टमेंट के हेड प्रोफेसर आलोक खरे ने बताया कि रामपुर गार्डन में विकास भवन-बरेली कॉलेज रोड पर लगा यह पेड़ मंडल में कहीं और होने की जानकारी फिलहाल उपलब्ध नहीं है। करीब 25 साल पहले दक्षिण भारत से इसका पौधा यहां लाकर लगाया गया था।

ऑर्नामेंटल ट्री

टेबीबुइया क्रिस्टोरिका ऑर्नामेंटल ट्री है। खूबसूरती के लिए ही इस पेड़ को लगाया जाता है। खूबसूरती और वातावरणीय महत्व के अलावा इस पेड़ का कोई और औषधीय या धार्मिक महत्व नहीं है। इस पर आने वाले पीले फूलों के कारण ही इसे गोल्डन ट्रंपेट ट्री के नाम से जाना जाता है।

अपील भी लगा लें