-इस वर्ष बरेली डिस्ट्रिक्ट के 84 पीआरवी स्टाफ पर रिश्वत मांगने के लगे आरोप

-मिसबिहेव की 60 शिकायतें, सभी की सीओ लेवल के अधिकारी से कराई जांच

BAREILLY: यूपी 100 की वर्किंग में सुधार लाने और रेस्पांस टाइम ठीक करने के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं. पिछले दिनों डीजीपी ने भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में यूपी 100 की प्रॉब्लम को दूर करने के निर्देश दिए थे, लेकिन इसके बावजूद भी सुधार नहीं आ रहा है. इस वर्ष बरेली पुलिस के यूपी 100 का रिकॉर्ड देखे तों कुल 144 शिकायतें पीआरवी स्टॉफ की आयी हैं. इनमें 84 शिकायतें रिश्वत मांगने और 60 शिकायतें पब्लिक से मिसबिहेव की हैं. पूरे जोन की बात करें तो आंकड़ा 713 तक पहुंच रहा है.

इनबांड और आउटबांड शिकायतें

यूपी 100 के पीआरवी स्टॉफ की शिकायतें दो तरह से दर्ज की जाती हैं. एक तरह की शिकायत को इनबांड और दूसरे तरह की शिकायत को आउटबांड कहा जाता है. इनबांड के मुताबिक यूपी 100 पर ही कॉल करके पीआरवी की शिकायत की जाती है और आउटबांड का मतलब पीआरवी के पहुंचने के बाद फीडबैक लेने के दौरान ली गई शिकायत है. इनबांड में पैसे मांगने, मिसबिहेव और समय पर न पहुंचने की शिकायतें होती हैं लेकिन फीडबैक में मिसबिहेव की ज्यादा शिकायतें की जाती हैं. इन सभी शिकायतों की जांच सीओ लेवल के अधिकारी से कराई जाती है. जांच में आरोपी पाए जाने के बाद पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की जाती है.

95 शिकायतें इनबांड से

बरेली डिस्ट्रिक्ट में इनबांड से कुल 95 शिकायतें आयीं, जिनमें 35 शिकायतें पैसे मांगने की और 60 शिकायतें मिसबिहैव की आयीं. इन सभी शिकायतों की जांच में एक शिकायत सही पायी गई. जिसमें से दो कर्मचारियों का ओआर कर दंडित किया गया. इसी तरह से आउटबांड से 49 शिकायतें पैसे मांगने की आयीं लेकिन मिसबिहैव की एक भी शिकायत नहीं आयी. वहीं बरेली में मौके पर न पहुंचने की कोई भी शिकायत नहीं आयी है. इन सभी 49 शिकायतों में जांच में कोई भी शिकायत सही नहीं पायी गई है.

मुरादाबाद जिले में नहीं पहुंच रही गाडि़यां

बरेली रेंज में पीआरवी के मौके पर न पहुंचने की सिर्फ एक शिकायत पीलीभीत डिस्ट्रिक्ट की है लेकिन मुरादाबाद रेंज का हाल काफी खराब है. यहां अकेले मुरादाबाद डिस्ट्रिक्ट की ही 47 शिकायतें मौके पर न पहुंचने की आयी हैं. इसके अलावा 2 शिकायतें बिजनौर जिले की भी हैं. वहीं पूरे जोन की बात करें तो कुल 713 शिकायतें आयी, जिनमें 9 पीआरवी स्टॉफ को दोषी पाया गया और उनके खिलाफ कार्रवाई की गई. अभी 35 शिकायतों की जांच सीओज के यहां पेंडिंग पड़ी हैं. जिनमें बरेली रेंज की 24 और मुरादाबाद रेंज की 11 शिकायतें हैं.

जोन के डिस्ट्रिक्ट की शिकायतें और एक्शन

डिस्ट्रिक्ट रिश्वत मांगने मिसबिहेव न पहुंचने एक्शन

बरेली 84 60 00 दो पीआरवी स्टॉफ का ओआर

बदायूं 99 00 00 कोई भी कर्मचारी दोषी नहीं

पीलीभीत 38 80 01 6 पीआरवी स्टॉफ दोषी

शाहजहांपुर 21 05 00 कोई कर्मचारी दोषी नहीं

मुरादाबाद 64 37 47 एक होमगार्ड को सस्पेंड

बिजनौर 34 05 02 कोई कर्मचारी दोषी नहीं

रामपुर 10 16 00 कोई कर्मचारी दोषी नहीं

अमरोहा 58 13 00 कोई कर्मचारी दोषी नहीं

संभल 39 00 00 कोई कर्मचारी दोषी नहीं

-----------------------------------------------

टोटल 447 216 50 9 पीआरवी स्टॉफ दोषी