allahabad@inext.co.in
ALLAHABAD: कीडगंज थाना क्षेत्र के शंकर लाल भार्गव रोड पर स्थित वर्षो पुराने बृजवासी छात्रावास की जर्जर दीवार कच्चे मकान पर गिरने से मलबे में दो मासूम दब गए. एक की मौके पर ही मौत हो गई. दूसरी बच्ची ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. हादसे की जानकारी पर पहुंची मेयर अभिलाषा गुप्ता ने यहां रहने वाले अन्य परिवारों से मकान खाली करने की अपील की.

जर्जर हैं हॉस्टल की दीवारें
शंकर लाल भार्गव रोड पर ही शंकर लाल भार्गव की बहुत पुरानी कोठी है. इसमें बृजवासी छात्रावास चलता है. छात्रावास की दीवारें काफी जर्जर हो चुकी हैं. गुरुवार की शाम बारिश के दौरान इन्हीं में से एक दीवार गिरी और दो मासूमों की जान चली गई.

दीवार के बगल में ही ठेला लगाकर चाउमिन बेचने वाले गुड्डू और सुनीता गौड़ का परिवार यहीं कच्चे मकान में रहता है. सुनीता को एक छह साल की बेटी शिवांगी व डेढ़ वर्ष का बेटा सोना था. गुरुवार की शाम करीब सात बजे बारिश के वक्त दोनों बच्चे मकान में खेल रहे थे. सुनीता बाहर निकली थी, तभी बृजवासी छात्रावास की जर्जर दीवार सुनीता मकान पर गिर गई और दोनों मासूम मलबा में दब गए.

दीवार गिरते ही सुनीता बच्चों को लेकर शोर मचाने लगी. आस-पास के लोग बच्चों के दबने की जानकारी होते ही मलबा हटाने में जुट गए. लेकिन जब तक बच्चों को बाहर निकाला जाता सोना की मौत हो चुकी थी. शिवांगी की सांस चल रही थी तो लोग उसे लेकर पास में स्थित सिटी हॉस्पिटल पहुंचे, लेकिन लाख प्रयास के बाद भी डॉक्टर उसे बचा नहीं सके. थोड़ी ही देर में उसने भी दम तोड़ दिया.

मौके पर पहुंची मेयर

मामले की जानकारी होते ही मेयर अभिलाषा गुप्ता मौके पर पहुंची. पता चला वहां और भी परिवार रहते हैं. उन्होंने यहां रहने वालों से अपील की कि किसी अनहोनी से बचने के लिए जगह खाली कर दें.