-प्रेमिका के भाइयों ने राजेश को गला घोंट कर उतारा था मौत के घाट, कॉलेज के पीछे फेंक दिया था शव

allahabad@inext.co.in
PRAYAGRAJ:
सोरांव नवरत्न महाविद्यालय के पीछे मिले राजेश कुमार धुरिया उर्फ गोलू के शव का राज पुलिस ने बेनकाब कर दिया है। उसकी मौत के पीछे का कड़वा सच आशनाई था। उसकी प्रेमिका के भाइयों ने गला घोंटकर शव को कॉलेज के पीछे फेंक दिया था। पकड़े गए अभियुक्तों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने राजेश को बहन के साथ देख लिया था। कई बार संभल जाने व बहन का पीछा छोड़ देने की हिदायत भी दे चुके थे। फिर भी वह नहीं मार रहा था। इसीलिए उसकी हत्या कर दिए।

एसएसपी ने किया खुलासा

कॉलेज के पीछे 20 मई को एक युवक का शव मिला था। पहचान न होने पर पुलिस ने उसके शव को अज्ञात में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। दूसरे दिन यानी 21 मई को घूरपुर के दलावबारी निवासी रजत कुमार पुत्र शशिकांत धुरिया ने उसकी पहचान अपने भाई राजेश के रूप में किया। पहचान के बाद के बाद रजत की तहरीर पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू किया। तफ्तीश में जुटी पुलिस राजेश के मोबाइल नंबर पर हुई बात का ब्योरा टटोला तो कातिलों तक पहुंचने का रास्ता मिल गया। सोरांव पुलिस ने मामले में दो लोगों अनिल कुमार उर्फ मुंशी लाल पुत्र स्व। नन्हे लाल निवासी भगवतीपुर थाना नवाबगंज व अंकुश पुत्र अनिल कुमार को गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी अतुल शर्मा ने बताया कि पूछताछ में दोनों ने राजेश के कत्ल का जुर्म कबूल कर लिया। एसपी गंगापार नरेंद्र कुमार ंिसह के मुताबिक अनिल अंकुश की मौसी का बेटा है। अंकुश ने राजेश को अपनी बहन के साथ कई बार देख लिया था। इससे खफा होकर दोनों ने उसकी हत्याकर शव कॉलेज के पीछे फेंक दिया था।